देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार तीनों कश्मीरी छात्र रिहा, पुलिस ने इस वजह से छोड़ा

पुलवामा की बरसी पर इन छात्रों पर पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने का आरोप है.

देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार तीनों कश्मीरी छात्र रिहा, पुलिस ने इस वजह से छोड़ा
कॉलेज प्रबंधन की शिकायत पर तीनों छात्रों को गिरफ्तार किया गया था.

बेंगलुरु: कर्नाटक हुबली में देशद्रोह के आरोप में गिरफ़्तार किए गए तीनों कश्मीरी छात्रों को रविवार को रिहा कर दिया गया है. पुलिस ने छात्रों को सबूतों के अभाव में छोड़ा. पुलवामा की बरसी पर इन छात्रों पर पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने का आरोप है.

पुलिस के मुताबिक, तीनों छात्र कश्मीर के रहने वाले हैं. तीनों ने अपने हॉस्टल रूम में पाकिस्तान पर लिखे एक गीत को गुनगुनाया और पाकिस्तान जिंदाबाद कहा. गाना शुरू होने से पहले खुद को बासित बताने वाला एक युवक कश्मीरी भाषा में कह रहा है, "मेरा नाम बासित है और मैं सोपोर का रहने वाला हूं. ये मेरे दोस्त आमिर और तालिब हैं, हम यहां ठीक हैं. इंशाअल्लाह! आप भी वहां ठीक होंगे. फिक्र करने की जरूरत नहीं है.'' इसके बाद पाकिस्तान की तारीफ करते हुए एक गाना बजता है जिसे छात्र गुनगुनाते हुए नजर आ रहे हैं.

शोपियां के रहने वाले हैं छात्र
पुलिस ने बताया कि शुरुआती जांच में सामने आया कि तीनों छात्र शोपियां के रहने वाले हैं और कॉलेज प्रबंधन की शिकायत पर तीनों को गिरफ्तार किया गया था.

पाकिस्तान के समर्थन में नारे
शनिवार को हुबली-धारवाड़ के पुलिस कमिश्नर आर. दिलीप ने कहा, "हमें सूचना मिली थी कि KLE इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के तीन छात्रों ने पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाए थे. उन्होंने इसका एक वीडियो भी बनाया था जो वायरल हो गया. गोकुल रोड स्टेशन के इंस्पेक्टर के नेतृत्व में तत्काल एक टीम घटनास्थल पर भेजी गई और उन्हें गिरफ्तार किया गया."

देखें- VIDEO