close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कर्नाटक: 'लापता' कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल मुंबई में करवा रहे इलाज, विधानसभा में हंगामा

'लापता' कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल मुंबई के एक निजी अस्पताल में इलाज करवाते पाए गए. वह विधानसभा सत्र में चल रहे विश्वासमत प्रस्ताव में शामिल नहीं हुए. उधर, कांग्रेस-जेडीएस विधायकों ने पाटिल को लेकर सदन में हंगामा किया. 

कर्नाटक: 'लापता' कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल मुंबई में करवा रहे इलाज, विधानसभा में हंगामा
कर्नाटक स्पीकर केआर रमेश कुमार ने विधायक श्रीमंत पाटिल को लेकर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

बेंगलुरू: 'लापता' कांग्रेस विधायक श्रीमंत पाटिल मुंबई के एक निजी अस्पताल में इलाज करवाते पाए गए. वह विधानसभा सत्र में चल रहे विश्वासमत प्रस्ताव में शामिल नहीं हुए. उधर, कांग्रेस-जेडीएस विधायकों ने पाटिल को लेकर सदन में हंगामा किया. उन्होंने बीजेपी पर विधायक तोड़ने का आरोप लगाया. उधर, कर्नाटक स्पीकर केआर रमेश कुमार ने गृहमंत्री एमबी पाटिल से बागी विधायक श्रीमंत पाटिल को लेकर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. 

सीने में दर्द की शिकायत को लेकर मुंबई में इलाज करवा रहे पाटिल की जो तस्वीरें मीडिया में आई हैं, उनको लेकर भी कांग्रेस विधायकों ने नाराजगी जताई. स्पीकर ने कहा, "स्थिति 'स्वभाविक और वास्तविक नहीं लग रही है.' पाटिल ने अपनी बीमारी का पत्र मुझे भेजा है लेकिन उसमें कोई तिथि का उल्लेख नहीं है और यह लेटरहेड में नहीं है.

कुमार ने विधानसभा में कहा, "कृपया पाटिल के परिजनों से तत्काल संपर्क करें और कल तक मुझे विस्तृत रिपोर्ट दें. उनसे पूछें अगर वे इस बारे में कुछ जानते हों. क्या उन्हें पहले भी स्वास्थ समस्या हुई थी या यह पहली बार हुई है. यह घटनाक्रम स्वभाविक नहीं लग रहा. यदि गृहमंत्री सुरक्षा सुनिश्चित नहीं कर सकते तो मैं डीजीपी से बात करूंगा."

 

पाटिल, राज्य के उत्तरपश्चिमी बेलगाम जिले के कागवाड विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं. वह शहर के बाहरी इलाके में देवनहल्ली के पास एक रिजॉर्ट में पार्टी के अन्य विधायकों के साथ ठहरे हुए थे. बुधवार शाम वह रिजॉर्ट से गायब हो गए और देर रात पता चला कि वह इलाज के लिए मुंबई गए हैं. पाटिल बॉम्बे हॉस्पिटल में भर्ती थे. अब उन्हें एक अन्य निजी अस्पताल में शिफ्ट किया गया है.

पाटिल के सत्र से गैरहाजिर होने के बाद सत्तारूढ़ सहयोगी की विधानसभा में संख्या 66 रह गई है. इसमें विधानसभा अध्यक्ष व वरिष्ठ बागी विधायक आर.रामलिंगा रेड्डी शामिल हैं. कांग्रेस के 12 बागी विधायकों व जेडीएस के तीन विधायकों के गैर हाजिर होने से सदन में सत्तारूढ़ गठबंधन की संख्या 101 है. इसमें बहुजन समाज पार्टी का एक विधायक शामिल है. इस तरह से सदन की कुल संख्या 225 से घटकर 210 हो गई है. इस तरह से बहुमत के लिए 106 सदस्यों की जरूरत होगी.

(इनपुट IANS से भी)