close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: जब मायावती ने थामा सोनिया का 'हाथ', राहुल गांधी से की दिल खोलकर बात

मंच पर जब सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल के साथ पहुंची तो उनका मायावती ने अभिवादन किया. 

VIDEO: जब मायावती ने थामा सोनिया का 'हाथ', राहुल गांधी से की दिल खोलकर बात
मायावती और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी की मुलाकात बेहद खास रही.

बेंगलुरु: कुमारस्वामी के शपथ-ग्रहण समारोह में यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बसपा सुप्रीमो मायावती, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, राकांपा अध्यक्ष शरद पवार, राजद नेता तेजस्वी यादव, रालोद अध्यक्ष अजीत सिंह, माकपा सचिव सीताराम येचुरी और अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन समेत दर्जन भर दिग्गज राजनेता शामिल हुए. इस दौरान सोनिया गांधी और बसपा सुप्रीमो मायावती की मुलाकात पर खास रही. 

मंच पर जब सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल के साथ पहुंची तो उनका मायावती ने अभिवादन किया. मायावती और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी की मुलाकात बेहद खास रही. मायावती ने सबसे पहले सोनिया के कंधे पर हाथ रखकर हालचाल जाना. फिर उनका हाथ अपने हाथों में लेकर कुछ गुफ्तगू की. इस दौरान राहुल भी चर्चा में शामिल हो गए. 

 

 

उधर, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और आंध्रप्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में उनकी भागीदारी का मतलब क्षेत्रीय पार्टियों की एकजुटता को मजबूती देना है. वे इस प्रयास में किसी बाधा को आने की इजाजत नहीं देंगे. बनर्जी ने कहा, "हमें खुशी है कि कुमारस्वामी आज शपथ ले रहे हैं और हम कर्नाटक के भाइयों और बहनों को बधाई देते हैं. हमें खुशी है कि हमें आमंत्रित किया गया. सभी क्षेत्रीय दल यहां कुमारस्वामीजी और उनकी सरकार को समर्थन देने के लिए मौजूद रहेंगे. हम सभी राजनीतिक दलों के साथ संपर्क में हैं, ताकि राष्ट्र के विकास के लिए कार्य कर सकें."

उन्होंने कहा, "अगर राज्य मजबूत होगा, तो केंद्र भी हमेशा मजबूत रहेगा. और इसलिए हमारा मिशन और विजन बिल्कुल स्पष्ट है. हम एक-दूसरे से मिलेंगे, एक-दूसरे से बात करेंगे और यह पार्टी के भविष्य के लिए हमें मजबूती देगा. चंद्रबाबू नायडू और मैं यहां क्षेत्रीय दलों को मजबूती देने के लिए आए हैं और हम ऐसा करना जारी रखेंगे."

बनर्जी ने कहा कि वे क्षेत्रीय पार्टियों के साथ आने में बाधा उत्पन्न करने का किसी दल को कोई मौका नहीं देंगे. अगर हम कोई वादा करते हैं तो उसे पूरा करेंगे. हम किसी से नहीं डरते. हम हिम्मत से काम करते हैं. हम वहीं करेंगे जो क्षेत्रीय दलों और देश के हित में होगा.

कांग्रेस को इस प्रयास से दूर रखा जाएगा के सवाल पर बनर्जी ने कहा, "कांग्रेस को जो करना है, वह वही करेगी और हमें जो करना है हम करेंगे. कांग्रेस एक अलग पार्टी है. कर्नाटक में कांग्रेस और कुमारस्वामी की संयुक्त सरकार बनने जा रही है. हम कुमारस्वामीजी का समर्थन करने आए हैं, क्योंकि वह क्षेत्रीय दल की अगुवाई कर रहे हैं."

बनर्जी ने कहा, "अगर क्षेत्रीय दल साथ आते हैं तो उनके पास अधिक मजबूती होगी. यह समझने के लिए बहुत ही आसान चीज है. इसे हिंदी में कुछ ऐसा कहते हैं, जो हमसे टकराएगा चूर चूर हो जाएगा." प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के खिलाफ मोर्चे के बारे में पूछे जाने पर नायडू ने कहा, "हम जो कर रहे हैं, उसे देख रहे हैं. हम सभी अधिक से अधिक क्षेत्रीय दलों का प्रसार करना चाहते हैं, यही हमारा और ममताजी का मिशन है."