close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गीतिका सहगल की 'फाइंडिंग योर जी-स्पॉट इन लाइफ' बनी बेस्टसेलर, महिला उद्यमी ऐसे बनी राइटर

गीतिका की इस बुक की खासियत है कि ये इसे पढ़ने वालों को उनकी जिंदगी में आगे बढ़ने की एजर्नी और उनकी लाइफ का G स्पॉट ढूंढने में मदद करती है. 

गीतिका सहगल की 'फाइंडिंग योर जी-स्पॉट इन लाइफ' बनी बेस्टसेलर, महिला उद्यमी ऐसे बनी राइटर
गीतिका सहगल (फोटो साभार- Instagram)

नई दिल्ली: देश में महिला लेखक हर विषय और मुद्दों पर लिख रहे हैं. इतना ही नहीं इन्हें पढ़ने वालों की संख्या भी काफी बढ़ गई है. अपने लेखन से पहचान बनाने का हौसला रखने वाली कई वुमन राइटर बेस्टसेलर लिस्ट में अपना नाम दर्ज करवा चुकी हैं. इसी लिस्ट में नाम जुड़ा है ई कामर्स में अपने स्किल्स से झंडे गाड़ने वाली गीतिका सहगल का. गीतिका की बुक 'फाइंडिंग योर जी-स्पॉट इन लाइफ' अमेजन बेस्टसेलर बुक बनी है. एंटरप्रेन्योर से लेखिका बनी गीतिका का मानना है कि खुद की मदद करना सबसे ज्यादा जरूर है और इसी को ध्यान में रखते हुए उन्होंने इस किताब को लिखा है. 

गीतिका बिजनेस की दुनिया का जाना माना नाम हैं. उनकी बुक ने लोगों के बीच काफी पैठ बनाई, खासकर महिलाओं को उनका लिखा काफी पसंद आया है. सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहने वाली गीतिका अपने फैंस के साथ इस प्लेटफॉर्म पर जुड़ी हुई हैं. 

BJP सांसद मीनाक्षी लेखी ने लिखा उपन्यास 'द न्यू दिल्ली कॉन्स्पिरेसी', थ्रिलर से होगा भरपूर

 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 

#bookstagramfeature #bookreview #bookrecommendations : This is a self help book which is very interesting and is actually part self exploring journal too! The book has a freshness to it because of which you will feel like your close friend (or anyone to whom you feel close) is helping you to go down the lane of self exploration! The narration is crisp and to the point! No beating around the bush! You will certainly find meaning at the end of each chapter. It is not about how to be a successful entrepreneur or a billionaire...it is about step by step approach to know yourself...to think about you! To again find your lost goal (even if it is to be a successful entrepreneur or a billionaire for that matter)! To find inner happiness at the end of each day! At the end of each chapter it has..."Do It for Yourself" exercise which are fun and you will find helpful! I would surely recommend this book (even to those who are not into this genre) to all..specially to those who has lost their goals of life in daily struggles!  I just didnt like the format of the book! When I received it and opened it...I felt I am back to my school text books! But otherwise I would give :/5 . . Frankly I don't read self help book much...but this book is little different from the kind I have read earlier. Have you read any such book from the genre you think is not your cup of tea? Let me know . . Thank you v.much @thebookoholics for the opportunity to review it!! . . #ps :There is one hidden book in the post which I am going to read next . . . #bookstagrammer #bookstagrammerindia

A post shared by Avni Goel (@22earthynotes) on

22 साल की उम्र में एमबीए करने के बाद गीतिका लंदन चली गईं और वहां से वापस आने के बाद गीतिका ने डॉट कॉम की दुनिया में कदम रखा. ऑनलाइन शॉपिंग करने वालों की नब्ज गीतिका बहुत अच्छी तरह से पहचानती हैं और इसी समझ ने उन्हें ई कॉमर्स की दुनिया में पहचान दिलाई. ई कॉमर्स में नाम कमाने के बाद गीतिका का मन लेखन में रम गया और उन्होंने 'फाइंडिंग योर जी-स्पॉट इन लाइफ' लिख डाली. गीतिका की इस बुक की खासियत है कि ये इसे पढ़ने वालों को उनकी जिंदगी में आगे बढ़ने की एजर्नी और उनकी लाइफ का G स्पॉट ढूंढने में मदद करती है. गीतिका का कहना है कि यदि आप कोशिश करते हैं, तो आप हार सकते हैं.