Digestion Problem: पाचन में गड़बड़ी के इन 4 लक्षणों को न करें इग्नोर, हो सकते हैं जानलेवा बीमारी के संकेत
X

Digestion Problem: पाचन में गड़बड़ी के इन 4 लक्षणों को न करें इग्नोर, हो सकते हैं जानलेवा बीमारी के संकेत

बेतरतीब लाइफस्टाइल और अनियमित खानपान, आजकल लोगों को कम उम्र में ही रोगी बना रहा है. इससे लोगों में पेट से जुड़ी बीमारियां तेजी से बढ़ रही हैं.

Digestion Problem: पाचन में गड़बड़ी के इन 4 लक्षणों को न करें इग्नोर, हो सकते हैं जानलेवा बीमारी के संकेत

नई दिल्ली: बेतरतीब लाइफस्टाइल और अनियमित खानपान, आजकल लोगों को कम उम्र में ही रोगी बना रहा है. इन्हीं में से दिक्कत पाचन यानी डाइजेशन (Digestion Problem) की है. 

लोगों में बढ़ रही खराब पाचन की दिक्कत 

खराब लाइफस्टाइल की वजह से लोगों को पेट की खराबी (Digestion Problem) की दिक्कत बढ़ती जा रही है. कभी उन्हें कब्ज परेशान करती है तो कभी दस्त शुरू हो जाते हैं. अक्सर लोग थोड़ा बहुत आराम या दवा लेकर इन दिक्कतों की असल वजह को नजरअंदाज कर जाते हैं. 

खराब लाइफस्टाइल बन रहा बड़ा कारण

मेडिकल एक्सपर्ट का कहना है कि अगर आपके पेट में ये दिक्कत (Digestion Problem) लगातार बनी हुई तो आपको कतई इग्नोर नहीं करना चाहिए. यह आपके पेट में किसी बड़ी बीमारी यानी आंतों में खराबी का भी संकेत हो सकता है. जिससे जान तक जा सकती है. एक्सपर्ट के मुताबिक अगर आपको भी आंतों (Intestinal Malfunction) से जुड़ी कोई दिक्कत हो रही है तो आप शरीर के कुछ खास लक्षणों के जरिए इसे जान सकते हैं. आइए जानते हैं कि वे लक्षण कौन से हैं:-

स्विंग होने लगता है मूड

पेट में आंत की खराबी होने पर हमारा शरीर रिएक्ट करने लगता है. इससे हमारा मूड स्विंग हो जाता है. इससे कई बार भूख लगातार कम होती जाती है या फिर ज्यादा भूख लगने लगती है. ये दोनों ही स्थितियां इस बात की ओर इशारा करती हैं कि हमारे पेट में कुछ बड़ी गड़बड़ हो रही है और हमें उसका तुरंत टेस्ट करवाने की जरूरत है. 

रिएक्ट करने लगती है स्किन

स्किन हमारे शरीर का सबसे बड़ा हिस्सा होती है. पेट में कोई भी बीमारी होने पर पूरे शरीर पर इसका असर पड़ने लगता है. खासतौर पर हमारी स्किन सुस्त और ढीली होने लगती है. अगर आपको भी ऐसे कुछ लक्षण महसूस हों तो ये इनफ्लेमेशन, आंत में छेद या डाइजेशन से जुड़ी बड़ी बीमारी हो सकती है. 

बढ़ जाती है एसिडिटी की दिक्कत

आंतों में खराब बैक्टीरिया की संख्या अनुपात से ज्यादा बढ़ जाने पर बॉडी रिएक्ट करने लगती है. इससे पाचन तंत्र (Digestion Problem) खराब हो जाता है और कुछ भी खाते ही पेट में गैस या एसिडिटी की दिक्कत बढ़ जाती है. अगर आपको ऐसा कुछ हो रहा है तो भोजन में बदलाव के साथ ही रोजाना कम से कम एक किलोमीटर चलने की आदत भी जरूर डाल लें.

ये भी पढ़ें- नींद आने पर भी हम क्‍यों टालते हैं? इस 'बदले' की भावना के कारण करते हैं ऐसा

कमजोर हो जाता है कॉन्फिडेंस

कई बार हम ऑफिस या बिजनेस पॉइंट पर होते हैं लेकिन वहां पर स्थिर नहीं रह पाते. हमें ऐसा लगता है कि हमारा पेट (Digestion Problem) ठीक नहीं है. इस डर की वजह से हम बाहर निकलने से भी बचने लगते हैं. इसके चलते हमारा कॉन्फिडेंस भी डिगने लगता है और काम भी प्रभावित होता है. अगर यह समस्या लगातार बनी रहे तो देरी किए बिना तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर से इसका इलाज करवाना चाहिए. 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी घरेलू नुस्खों और सामान्य मान्यताओं पर आधारित है. इसे अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें. ZEE NEWS इन नुस्खों की पुष्टि नहीं करता है.)

LIVE TV

Trending news