हफ्ते में 4 दिन काम और 3 दिन आराम, जानिए कौन सा देश कर रहा शुरुआत

फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मारिन ने हफ्ते के चार दिन और 6 घंटे काम का प्रस्ताव कैबिनेट की पहली बैठक में रखा है

हफ्ते में 4 दिन काम और 3 दिन आराम, जानिए कौन सा देश कर रहा शुरुआत
फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मारिन (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सुनने में सपना सा लगे, लेकिन ये सच है. जी हां, दुनिया में एक ऐसा देश भी है जो हफ्ते के सिर्फ चार दिन ही काम के लिए रखना चाहता है. इस देश की सरकार बाकि तीन दिन नागरिकों को आराम देने की सोच रही है. हम बात कर रहे हैं फिनलैंड की. दुनिया की सबसे युवा फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मारिन ने हफ्ते के चार दिन और 6 घंटे काम का प्रस्ताव कैबिनेट की पहली बैठक में रखा है. सब ठीक रहा तो फिनलैंड दुनिया का पहला देश बनेगा जहां मात्र चार दिन की नौकरी पर जाना पड़ेगा.

परिवार और प्रियजनों के बीच दें ज्यादा समय
फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मारिन का कहना है कि सरकार चाहती है कि वहां के नागरिक काम काज के अलावा अपने परिवार और प्रियजनों के साथ ज्यादा समय बिताएं. सरकार का मानना है कि अगर लोगों को पारिवारिक समय ज्यादा बिताने को मिलेगा देश की उत्पादन क्षमता भी बढ़ेगी. मारिन ने पड़ोसी देश स्वीडन का हवाला देते हुए कहा कि वहां 2015 में हफ्ते में 6 घंटे रोज काम करने के फैसले से क्रांतिकारी बदलाव आया है. उनका मानना है कि किसी भी इनसान को एक हफ्ते में सिर्फ 24 घंटे काम करना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा समय परिवार को देना चाहिए.

चीनी अरबपति जैक मा भी कर चुके हैं चार दिन काम की वकालत
इससे पहले चीन के सबसे अमीर व्यक्ति और अलिबाबा कंपनी के मालिक जैक मा ने 2017 में कहा था कि हफ्ते में चार दिन ही काम करना चाहिए. उन्होने कहा कि अगले 30 साल बात लोग सिर्फ हफ्ते में चार दिन ही काम किया करेंगे और तीन दिन आराम करेंगे. जैक मा का तर्क है कि दुनिया में आर्टिफिशयल इंटेलिजेंस के सुचारू रूप से काम करने पर लोगों पर काम करने का दबाव कम होगा. 

माइक्रोसॉफ्ट भी कर चुका है सफल प्रयास
कुछ समय पहले माइक्रोसॉफ्ट ने अपने जापान ऑफिस में चार दिन काम करने की शुरुआत की. कुछ समय बाद जब इसके परिणाम आए तो चौंकाने वाले थे. कंपनी ने पाया कि वहां चार दिन काम की वजह से उत्पादन क्षमता में जबरदस्त इजाफा हुआ है. 

हफ्ते में 5 दिन काम करने वाले देशों में औसत कमाई भी ज्यादा
बताते चलें कि जो देश हफ्ते में मात्र पांच दिन काम कराते हैं वहां की औसत कमाई भी बेहतर है. मसलन, अमेरिका में औसत कमाई 43,59,059 रुपए है. इसी तरह स्विट्जरलैंड में 43,56,885 रुपए और ऑस्ट्रेलिया 37,72,745 रुपए है.