High Blood Pressure के वॉर्निंग साइन हैं ये लक्षण, लापरवाही से जा सकती है जान
X

High Blood Pressure के वॉर्निंग साइन हैं ये लक्षण, लापरवाही से जा सकती है जान

हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) को साइलेंट किलर माना जाता है. शुरुआत में आपको इसके लक्षण नजर नहीं आते. जानें कब ये हो सकता है सबसे ज्यादा खतरनाक.

High Blood Pressure के वॉर्निंग साइन हैं ये लक्षण, लापरवाही से जा सकती है जान

नई दिल्ली: हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) या हाइपरटेंशन (Hypertension) हृदय रोगों की वजह बन सकता है. World Health Organization के मुताबिक, भारत में करीब 63 प्रतिशत मौतें नॉन कम्यूनिकेबल बीमारियों की वजह से होती हैं और इनमें भी 27 प्रतिशत की वजह कार्डियोवास्कुलर डिजीज है. हाइपरटेंशन हृदय रोगों की सबसे बड़ी वजह है, इसलिए जरूरी है कि आप इसके वार्निंग साइन को पहचानें. ऐसे कुछ लक्षण हैं जो ये संकेत देते हैं कि आपका ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा बढ़ा हुआ है. 

सिरदर्द और नाक से खून आना

आमतौर पर ब्लड प्रेशर हाई होने पर इसके लक्षण नजर नहीं आते, लेकिन कुछ मामलों में सिरदर्द के साथ नाक से खून बहने की समस्या हो सकती है. अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के मुताबिक, अगर आपका ब्लड प्रेशर 180/120 mm Hg या इससे ज्यादा है तो सतर्क हो जाएं. सिरदर्द और नाक से खून आने के लक्षण दिखें तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें. 

सांस लेने में तकलीफ

Intense pulmonary Hypertension की स्थिति में सांस लेने में तकलीफ की समस्या हो सकती है. ऐसा तब होता है कि जब फेफड़ों तक जाने वाली रक्त वाहिकाओं में ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा बढ़ जाता है. ऐसे में सांस लेने में दिक्कत हो सकती है. खास करके तब जब आप वॉक करते हैं, किसी तरह का भार उठाते हैं या ​सीढ़ियां चढ़ते हैं. 

इन बातों का रखें ख्याल

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के मुताबिक, ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को कंट्रोल रखने के लिए फिजिकल एक्टिविटी बहुत जरूरी है. इससे हेल्दी वेट मेंटेन होता है और आपका ब्लड प्रेशर लेवल सही रहता है. ये कार्डियोवास्कुलर डिजीज (Cardiovascular Disease) के खतरे को भी कम करता है. 

रोज खाएंगे ये चीजें तो बढ़ जाएगी आपकी उम्र, स्टडी में हुआ खुलासा  

इसके अलावा सही डाइट का ख्याल रखना भी जरूरी है. शुगर और कार्ब के इनटेक को कम करें और कितनी कैलोरी आप ले रहे हैं, इस पर नजर रखें. प्रोसेस्ड फूड और सोडियम बिल्कुल छोड़ दें. स्ट्रेस को कम करने के लिए योग और मेडिटेशन करें. साथ ही पर्याप्त नींद लें.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. इसे अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें. ZEE NEWS इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

Trending news