close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BRAVO: एस धामी बनीं देश की पहली महिला फ्लाइंग यूनिट कमांडर, रच दिया इतिहास

भारतीय वायु सेना की विंग कमांडर एस धामी ने देश की पहली महिला अधिकारी बन देश की हर बेटी का सिर फर्क से ऊंचा कर दिया है. एस धामी फ्लाइंग यूनिट की फ्लाइट कमांडर बनी हैं. 

BRAVO: एस धामी बनीं देश की पहली महिला फ्लाइंग यूनिट कमांडर, रच दिया इतिहास
विंग कमांडर एस धामी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: देश की बेटियां हर फील्ड में अपना नाम रोशन कर रही हैं. सेना में लड़कियां कंधे से कंधा मिलाकर दुश्मन का सामना करने के लिए तैयार हो रही हैं. भारतीय वायु सेना की विंग कमांडर एस धामी ने देश की पहली महिला अधिकारी बन देश की हर बेटी का सिर फर्क से ऊंचा कर दिया है. एस धामी फ्लाइंग यूनिट की फ्लाइट कमांडर बनी हैं और उन्होंने हिंडन एयर बेस में चेतक हेलिकॉप्टर यूनिट के फ्लाइट कमांडर का पदभार संभाला. फ्लाइट कमांडर यूनिट की कमान में यह दूसरा पोस्ट है. 

पंजाब के लुधियाना में पली-बढ़ी हाई स्कूल के दिनों से ही पायलट बनना चाहती थीं. करियर में ऊंचाइयां छू रहीं धामी एक नौ साल के बच्चे की मां हैं. 15 के अपने करियर में एस धामी ने चेतक और चीता हेलिकॉप्टर उड़ाती रही हैं. विंग कमांडर धामी चेतक और चीता हेलीकॉप्टरों के लिए भारतीय वायुसेना की पहली महिला योग्य फ्लाइंग इंस्ट्रक्टर भी हैं. 

बता दें कि भारतीय सशस्त्र बलों में महिलाओं ने 26 अगस्त को विंग कमांडर शालिजा धामी की नियुक्ति के साथ एक और मील का पत्थर स्थापित किया जो भारतीय वायु सेना की संचालन इकाई की पहली महिला उड़ान कमांडर बनीं. विंग कमांडर धामी भी IAF की पहली महिला अधिकारी हैं जिन्हें लंबे कार्यकाल के लिए स्थायी कमीशन प्रदान किया जाएगा. दिल्ली उच्च न्यायालय में एक कठिन कानूनी लड़ाई जीती और महिला अधिकारियों को अपने पुरुष समकक्षों के साथ स्थायी कमीशन पर विचार करने का अधिकार मिला.