close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहारः दूसरे चरण में 5 सीटों पर 68 प्रत्याशियों का भविष्य EVM में कैद, 6 लोग गिरफ्तार

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में बिहार के पांच सीटों पर मतदान किया गया. इसके साथ ही 68 प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में कैद हो गया है.

बिहारः दूसरे चरण में 5 सीटों पर 68 प्रत्याशियों का भविष्य EVM में कैद, 6 लोग गिरफ्तार
दूसरे चरण में बिहार से 68 प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतरे थे. (प्रतीकात्मक फोटो)

पटनाः लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में बिहार की पांच सीटों के लिए मतदान गुरुवार को संपन्न हो गया. किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, बांका और भागलपुर संसदीय क्षेत्रों में 62.52 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया और इसके साथ ही 68 प्रत्याशियों का राजनीतिक भविष्य ईवीएम में बंद हो गया.

दूसरे चरण में मतदाताओं में काफी उत्साह देखा गया. छिटपुट घटनाओं को छोड़कर बाकी मतदान शांतिपूर्ण रहा. दूसरे चरण में 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. आयोग ने इसकी जानकारी दी है.

बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एच़ आऱ श्रीनिवास ने बताया, "सुबह सात बजे से प्रारंभ मतदान का कार्य शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया. प्रारंभ में कुछ मतदान केंद्रों में ईवीएम खराब होने की सूचना मिली थी, जिसे बाद में दुरुस्त करा दिया गया."

उन्होंने बताया, "दूसरे चरण के इन पांच लोकसभा क्षेत्रों में 62.52 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. सर्वाधिक 63.40 प्रतिशत मतदान किशनगंज में, जबकि सबसे कम 55.14 प्रतिशत मतदान भागलपुर में हुआ."

उल्लेखनीय है कि पिछले लोकसभा चुनाव में इन पांच लोकसभा क्षेत्रों में औसतन 61.92 प्रतिशत मतदान हुआ था. 

इस चरण के चुनाव में छिटपुट घटनाओं को छोड़कर कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है. उन्होंने बताया कि बांका के अमरपुर विधानसभा क्षेत्र के शंभूगंज थाना क्षेत्र के रमचुआं गांव स्थित मतदान केंद्र संख्या 59 पर पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प हुई. 

अपर पुलिस महानिदेशक कुंदन कृष्णन ने बताया कि कुछ असामाजिक तत्व मतदान केंद्र में प्रवेश करना चाहते थे, जिन्हें सुरक्षाकर्मियों ने रोक दिया, और वहां हंगामा होने लगा. इसके बाद असामाजिक तत्वों ने पथराव शुरू कर दिया. हालात को काबू में करने के लिए सुरक्षाकर्मियों को चार चक्र हवा में गोली चलानी पड़ी. 

इस घटना के कारण मतदान कुछ समय के लिए बाधित रहा.

बिहार के किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, बांका और भागलपुर संसदीय क्षेत्रों में मतदान के दौरान 85.91 लाख से ज्यादा मतदाताओं के लिए 8,644 मतदान केंद्र बनाए गए थे. 

दूसरे चरण में मतदान को लेकर लोगों में उत्साह देखा गया. मतदान केद्रों पर मतदाताओं की लंबी कतार देखी गई. हालांकि दोपहर में कतार की लंबाई कम हो गई. धूप कम होते ही मतदाता एकबार फिर मतदान केंद्रों पर पहुंचे और उन्होंने अपने वोट डाले. 

इस चरण में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की ओर से जद (यू) के पांच उम्मीदवार, जबकि महागठबंधन की ओर से कांग्रेस के तीन और राजद के दो उम्मीदवारों सहित कुल 68 प्रत्याशी चुनावी मैदान में अपना भाग्य आजमा रहे हैं. इसमें कांग्रेस के तारिक अनवर, उदय सिंह, राजद के जयप्रकाश नारायण यादव, पूर्व सांसद पुतुल कुमारी, जद(यू) के संतोष कुशवाहा, महमूद असरफ जैसे दिग्गज शामिल हैं. 

मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे. सभी मतदान केंद्रों पर अर्धसैनिक बल और बिहार सैन्य बल की तैनाती की गई थी. सुरक्षा के मद्देनजर बांका के कटोरिया और बेलहर विधानसभा क्षेत्रों में चार बजे तक ही वोट डाले गए, जबकि अन्य क्षेत्रों में शाम छह बजे तक मतदाता हुआ.

बिहार में महागठबंधन और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में सीधा मुकाबला माना जा रहा है, लेकिन कुछ क्षेत्रों में मुकाबला त्रिकोणीय देखने को मिल रहा है. 

उल्लेखनीय है कि बिहार की 40 लोकसभा सीटों के लिए सभी सात चरणों में मतदान होना है. पहले चरण में 11 अप्रैल को चार लोकसभा सीटों के लिए मतदान संपन्न हो चुका है.