close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चुनाव में हार के बाद ममता बनर्जी ने छीने भतीजे अभिषेक के अहम अधिकार

ममता ने अभिषेक से उन सारे जिलों की कमान वापस ले ली है, जहां बीजेपी ने जीत दर्ज की है और टीएमसी हारी है. पार्टी अध्यक्ष ने अन्य नेताओं को यह जिम्मेदारी दे दी है. अब अभिषेक को सिर्फ चुनाव संबंधी कार्यों के अधिकार सौंपे गए हैं.

चुनाव में हार के बाद ममता बनर्जी ने छीने भतीजे अभिषेक के अहम अधिकार
ममता ने छीने अभिषेक के अधिकार. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली:  पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव 2019 में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अच्छे प्रदर्शन के बाद तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को पार्टी के संगठन में फेरबदल किए. ममता बनर्जी ने पार्टी में नंबर दो माने जाने वाले अपने भतीजे अभिषेक बनर्जी से कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां वापस ले ली हैं. ममता ने अभिषेक से उन सारे जिलों की कमान वापस ले ली है, जहां बीजेपी ने जीत दर्ज की है और टीएमसी हारी है. पार्टी अध्यक्ष ने अन्य नेताओं को यह जिम्मेदारी दे दी है. अब अभिषेक को सिर्फ चुनाव संबंधी कार्यों के अधिकार सौंपे गए हैं.

ममता बनर्जी ने सभी उम्मीदवारों और वरिष्ठ नेताओं के साथ करीब घंटे भर चली बैठक के बाद कहा, 'हमने पार्टी संगठन में कई बदलाव किए हैं. अच्छी टक्कर देने के बावजूद हारने वाले उम्मीदवारों को अतिरिक्त जिम्मेदारियां दी गयी हैं. तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने लोकसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे की शनिवार को पेशकश की लेकिन तृणमूल कांग्रेस ने इसे खारिज कर दिया.

 

बनर्जी ने चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद पहला संवाददाता सम्मेलन संबोधित करते हुए भाजपा पर आरोप लगाया कि उसने पश्विम बंगाल में वोट प्राप्त करने के लिए लोगों का धार्मिक आधार पर ध्रुवीकरण किया. पश्चिम बंगाल की 42 लोकसभा सीटों में से भाजपा ने 18 पर जीत दर्ज करके तृणमूल कांग्रेस को एक झटका दिया है. तृणमूल कांग्रेस ने 22 सीटें जीती हैं जो कि 2014 में जीती गई 34 सीटों से कम है.