'गुजरात कांग्रेस पर नहीं है राहुल गांधी का कंट्रोल, यहां यूज एंड थ्रो चल रहा है'

 'गुजरात मं कांग्रेस पार्टी में एक षड़यंत्र चल रहा है. उन्होंने बताया कि साल 2007, 2012 और 2017 में कांग्रेस की सरकार बन रही थी, लेकिन गुजरात कांग्रेस में गुटबाजी के चलते ऐसा नहीं हो सका.'

'गुजरात कांग्रेस पर नहीं है राहुल गांधी का कंट्रोल, यहां यूज एंड थ्रो चल रहा है'

गांधीनगरः लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha elections 2019) में कांग्रेस को छोड़ने वाले गुजरात में ओबीसी के नेता अल्पेश ठाकोर ने राज्य नेतृत्व पर गंभीर आरोप लगाए हैं. दिसंबर 2017 में कांग्रेस के टिकट पर राधनपुर से विधायक अल्पेश ने कहा है कि गुजरात कांग्रेस पर राहुल गांधी का कंट्रोल नहीं है. उन्होंने कहा है कि वह राहुल गांधी के लिए कांग्रेस में आए थे लेकिन यहां पर यूज एंड थ्रो चल रहा है. ज़ी मीडिया से खास बातचीत में अल्पेश ने ठाकोर ने बताया, 'मेरे साथ जो व्यवहार हुआ है उसके चलते मैंने पार्टी छोड़ी है. कांग्रेस पार्टी ने मेरे और मेरे समर्थकों के साथ जो व्यवहार किया है वह दुश्मनों जैसा था.हमारे लड़कों को सम्मान नहीं दिया जाता था. '

अल्पेश ठाकोर ने कहा, 'मैं राहुल गांधी के भरोसे कांग्रेस में आया था लेकिन राहुल गांधी का गुजरात कांग्रेस पर कंट्रोल नहीं है. यहां (गुजरात कांग्रेस) यूज एंड थ्रो चल रहा है' अल्पेश ने आरोप लगाया कि कांग्रेस गरीबों की बात करती है लेकिन यहां गरीबों की कोई नहीं सुनता है. अमीरों को टिकट दिया जाता है. 

यह भी पढ़ेंः गुजरात : अल्पेश ठाकोर ने कांग्रेस छोड़ी, बीजेपी में शामिल होने पर दिया यह जबाव

 

अल्पेश ने यह भी आरोप लगाया कि गुजरात मं कांग्रेस पार्टी में एक षड़यंत्र चल रहा है. उन्होंने बताया कि साल 2007, 2012 और 2017 में कांग्रेस की सरकार बन रही थी, लेकिन गुजरात कांग्रेस में गुटबाजी के चलते ऐसा नहीं हो सका. किसी एक नेता को यदि टिकट मिलता है तो दूसरा खेमा उसे गरियाने लगता है. 

अल्पेश ने यह तक कहा कि गुजरात में कांग्रेस के खिलाफ काम करने वालों पर पार्टी कोई कार्रवाई नहीं करती है, बल्कि उनको बाद में सम्मानित किया जाता है. अल्पेश ने सवाल किया कि आखिर गुजरात में ही कांग्रेस के नेता पार्टी छोड़कर क्यों जा रहे हैं? पार्टी को इस पर ध्यान देना चाहिए. 

अल्पेश ठाकोर ने बताया कि लोकसभा 2019 उनका टारगेट नहीं है, उन्होंने कहा कि 2022 में हम गुजरात का मुख्यमंत्री तय करेंगे.