close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अरुण जेटली ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी, कहा- 'मुझे जिम्‍मेदारी से दूर रखा जाए'

30 मई को मोदी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह से पहले भाजपा के वरिष्‍ठ नेता अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है.

अरुण जेटली ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी, कहा- 'मुझे जिम्‍मेदारी से दूर रखा जाए'
अरुण जेटली ने अपने खराब स्‍वास्‍थ्‍य का हवाला देते हुए कहा है कि उनको नए मोदी मंत्रिमंडल में कोई जिम्‍मेदारी नहीं दी जाए. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: 30 मई को मोदी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह से पहले भाजपा के वरिष्‍ठ नेता अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है. इसमें उन्‍होंने अपने खराब स्‍वास्‍थ्‍य का हवाला देते हुए कहा है कि उनको नए मोदी मंत्रिमंडल में कोई जिम्‍मेदारी नहीं दी जाए. अरुण जेटली ने अपने खत में कहा, ''पिछले 18 महीनों से मुझे कुछ गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य चुनौतियों का सामना करना पड़ा है. अपने डॉक्‍टरों के माध्‍यम से इनमें से अधिकांश से मुक्ति मिल गई है. लोकसभा चुनाव अभियान खत्‍म होने और उसके बाद आपके केदारनाथ जाने से पहले ही मैंने आपको मौखिक रूप से सूचित किया था कि प्रचार के दौरान जो दायित्‍व मुझे सौंपे गए थे, उनका तो निर्वहन किया लेकिन भविष्‍य में आगे कुछ समय के लिए किसी अन्‍य जिम्‍मेदारी से दूर रहना चाहता हूं. इससे अपने उपचार और स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान केंद्रित कर सकूंगा...''

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दूसरे कार्यकाल के लिए गुरुवार को राष्‍ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में शपथ ग्रहण करेंगे. सूत्रों के अनुसार, पीएम मोदी कल शाम 7 बजे शपथ ग्रहण करेंगे. उनके साथ 65 से 70 मंत्री भी शपथ लेंगे.

पीएम मोदी का शपथ ग्रहण : कल सुबह 7 बजे अटल जी की समाधि स्‍थल जाएंगे PM, शाम को समारोह में आएंगे 6500 मेहमान

कौन बनेगा मंत्री?
बता दें कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. मोदी मंत्रिमंडल में कौन-कौन मंत्री होंगे और किसको क्या मंत्रालय दिया जाए, इसको लेकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच 7 लोक कल्याण मार्ग पर लगभग 5 घंटे तक बैठक हुई थी. जानकारी के अनुसार, इस बैठक में पीएम मोदी- शाह ने बीजेपी और घटक दलों से बनने वाले मंत्रियों और उनके विभागों को अंतिम रूप दे दिया है. 30 मई को शपथ से पहले बनने वाले मंत्रियों को शपथ के लिए फोन जाएगा.

arun jaitley

इस बार कैबिनेट में अनुभव के अलावा युवा, क्षेत्रीय संतुलन, महिला, जातिगत संतुलन, आगामी विधानसभा चुनाव वाले राज्य और विशेषज्ञों का मिला-जुला रूप हो सकता है. हालांकि ये कहना अभी काफी मुश्किल है कि खुद अमित शाह भी मंत्रिमंडल में शामिल होंगे या नहीं.  पीएम मोदी के अलावा मंत्रिमंडल में कौन-कौन शपथ लेंगे, इसे लेकर आज भी दिल्ली में बैठकों का दौर जारी रहेगा.

बिम्सटेक देशों के सभी नेताओं को किया गया आमंत्रित
उल्‍लेखनीय है कि बिम्सटेक देशों के सभी नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के लिए आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की पुष्टि कर दी है. विदेश मंत्रालय ने कहा है कि मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ और किर्गीस्तान के राष्ट्रपति एस जीनबेकोव ने भी कार्यक्रम में शिरकत करने को लेकर अपनी सहमति दे दी है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना और नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली ने भी कार्यक्रम में हिस्सा लेने की पुष्टि की है.

उन्होंने बताया कि म्यामां के राष्ट्रपति यू विन मिंट और भूटान के प्रधानमंत्री लोटे शेरिंग ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है कि वे इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे. कुमार ने कहा कि थाईलैंड की ओर से विशेष दूत ग्रिसाडा बूनरैक समारोह में अपने देश का प्रतिनिधित्व करेंगे. भारत के अलावा बिम्सटेक में बांग्लादेश, म्यामां, श्रीलंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं. 

मोदी ने 2014 में शपथ ग्रहण समारोह के लिए पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ सहित सभी दक्षेस नेताओं को आमंत्रित किया था. हालांकि, बृहस्पतिवार के समारोह के लिए बिम्सटेक नेताओं को आमंत्रित किये जाने को पाकिस्तान को इस बात का संकेत भेजने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है कि भारत उसके साथ बातचीत नहीं करना चाहता है.