close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तेजप्रताप ने परिवार में दिखाए बागी तेवर, तो BJP के सुशील मोदी ने यूं जताई सहानुभूति

 बीजेपी नेता तेजप्रताप यादव के पक्ष में उतर गए हैं. बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने भी तेजप्रताप यादव के पक्ष में बयान दिया है. 

तेजप्रताप ने परिवार में दिखाए बागी तेवर, तो BJP के सुशील मोदी ने यूं जताई सहानुभूति
बीजेपी नेता तेजप्रताप यादव के पक्ष में उतर गए हैं.(फाइल फोटो)

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने पार्टी के खिलाफ बागी तेवर अपना लिया है. आरजेडी जहां इस मामले पर डैमेज कंट्रोल में जुटी है वहीं, बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी खुलकर तेजप्रताप यादव के पक्ष में उतर गए हैं. दिलचस्प बात यह है कि तेजप्रताप यादव ने ही उनके बेटे की शादी में घुसकर उत्पात मचाने की धमकी दी थी. लेकिन आज जब लालू परिवार में बगावत है, तो सुमो तेजप्रताप के प्रति सहानुभूति प्रकट कर रहे हैं.

सुशील मोदी ने कहा है कि आरजेडी वंशवाद की कलह झेल रही है. यह दो वारिसों को बीच का संघर्ष है. साथ ही उन्होंने कहा कि सारण से तेजप्रताप यादव के ससुर को टिकट देना उनके लिए जले पर नमक छिड़कने जैसा है.

सुशील मोदी ने कहा कि एक तरफ तेजप्रताप यादव अपनी पत्नी के साथ तलाक का केस लड़ रहे हैं वहीं, आरजेडी ने उनके ससुर चंद्रिका राय को टिकट दे दिया है. इसका मतलब है जले पर नमक रगड़ा जा रहा है. उन्होंने कहा यही नहीं नेता प्रतिपक्ष ने मीसा भारती को स्टार प्रचारक बनाया है. दोनो के बीच संघर्ष थमने वाला नहीं है. तेजप्रताप यादव में लालू यादव की छवि है. पूरे मामले में राजद के सभी नेता चुप हैं. यह तूफान थमने वाला नहीं है.

उन्होंने साफ कहा है कि सारण, कांग्रेस की अमेठी-रायबरेली की तरह आरजेडी की पुश्तैनी सीट है और इसे किसी बाहरी व्यक्ति को नहीं देना चाहिए. उन्होंने कहा कि तेजप्रताप चाहते हैं कि वहां से उनकी मां राबड़ी देवी चुनाव लड़े या वह खुद निर्दलीय उतर जाएंगे. 

साथ ही तेजप्रताप यादव ने जहानाबाद और शिवहर सीट से अपने पसंद के प्रत्याशी को उतारने की मांग की है. देखने वाली बात ये होगी कि आरजेडी में आया यह तूफान किस मोड़ पर जाकर थमता है और तेजप्रताप यादव क्या कदम उठाएंगे.