close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीजेपी चुनाव समिति की बैठक चल सकती है देर रात तक, होगा उम्‍मीदवारों का ऐलान

पार्टी सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में 100 प्रत्याशियों के नामों पर मुहर लगेगी. वहीं, बताया जा रहा है कि केंद्रीय चुनाव समिति की अगली बैठक 18 मार्च को होगी.

बीजेपी चुनाव समिति की बैठक चल सकती है देर रात तक, होगा उम्‍मीदवारों का ऐलान
वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में देश में चल रही मोदी की लहर के चलते भाजपा को प्रदेश की 29 में से 27 सीटें मिली थी.

नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) से पहले विपक्षी दलों समाजवादी पार्टी, कांग्रेस, बीएसपी आदि ने अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा करनी शुरू कर दी है. इन सबके बीच बीजेपी ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं. अटकलें लगाई जा रही हैं कि बीजेपी शनिवार को लोकसभा चुनाव के लिए 100 सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर सकती है. दरअसल, बीजेपी मुख्यालय में केंद्रीय चुनाव समिति की पहली बैठक चल रही है. ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक के बाद उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की जाएगी. 

सूत्रों के अनुसार, बीजेपी चुनाव समि‍त‍ि की बैठक देर रात तक चल सकती है. इसके बाद उम्‍मीदवारों के नाम का ऐलान हो सकता है. बैठक में केंद्रीय चुनाव समिति के सभी नेता मौजूद हैं. इससे पहले असम के नेता भी इस बैठक में शामिल हुए थे. बताया जा रहा है कि असम की लोकसभा सीटों को लेकर भी यहां चर्चा हुईं.

बीजेपी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, राजनाथ सिंह, अरुण जेटली समेत कई नेता शामिल हुए. पार्टी सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में 100 प्रत्याशियों के नामों पर मुहर लगेगी. वहीं, बताया जा रहा है कि केंद्रीय चुनाव समिति की अगली बैठक 18 मार्च को होगी. वहीं, बताया जा रहा है कि आज की बैठक के बाद उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा नहीं होगी. 

बताया जा रहा है कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को नागपुर से टिकट मिलाना तय है. वहीं, नॉर्थ गोवा सीट से केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक को टिकट मिलना तय माना जा रहा है. फिलहाल बैठक में त्रिपुरा के उम्मीदवारों पर चर्चा की जा रही है. बताया जा रहा है कि 18 मार्च को होने वाली अगली बैठक में उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभी सीटों पर प्रत्याशियों के नाम तय किए जा सकते हैं. 

12 से अधिक भाजपा सांसदों का कट सकता है टिकट
राज्य में सत्ताविरोधी लहर से बचने के प्रयास में जुटी भाजपा आगामी लोकसभा चुनाव में मध्यप्रदेश के अपने 12 मौजूदा सांसदों को टिकट नहीं देने का मन बना रही है. भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने पहचान जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ‘‘पार्टी की केन्द्रीय चुनाव समिति मध्य प्रदेश से पार्टी के 12 से अधिक वर्तमान सांसदों का टिकट काटने पर विचार कर रही है.’

2014 में 18 सांसदों को नहीं दिया था टिकट
वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में देश में चल रही मोदी की लहर के चलते भाजपा को प्रदेश की 29 में से 27 सीटें मिली थी. तब कांग्रेस सिर्फ गुना और छिंदवाड़ा सीटें बचा सकी थी. छिंदवाड़ा से मध्य प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री कमलनाथ जीते थे, जबकि गुना से सिंधिया राजघराने के वंशज ज्योतिरादित्य सिंधिया. ये दोनों सीटें कांग्रेस की गढ़ कहलाते हैं. वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भी भाजपा ने अपने 18 सांसदों को दुबारा चुनावी मैदान में नहीं उतारा था.