पश्चिम बंगाल: भीषण गर्मी का भी नहीं पड़ रहा उम्मीदवारों पर असर, चिलचिलाती धूप में कर रहे प्रचार

चुनावी सरगर्मियों के चरम पर पहुंचने के साथ ही प्रत्याशी भी मतदाताओं को लुभाने के अपने आखिरी प्रयास में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. 

पश्चिम बंगाल: भीषण गर्मी का भी नहीं पड़ रहा उम्मीदवारों पर असर, चिलचिलाती धूप में कर रहे प्रचार
सभी उम्मीदवार चिलचिलाती धूप में प्रचार के लिए पसीना बहाते हुए प्रचार में लगे हुए हैं. (फाइल फोटो)

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में चुनावी सरगर्मियों के चरम पर पहुंचने के साथ ही प्रत्याशी भी मतदाताओं को लुभाने के अपने आखिरी प्रयास में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. भले ही चुनाव मैदान में विपक्षी पार्टियां एक-दूसरे के खिलाफ जमकर हमला बोल रही हों लेकिन एक मुद्दा है जहां इन पार्टियों के उम्मीदवारों की स्थिति एक समान दिखाई देती है. सभी उम्मीदवार चिलचिलाती धूप में लोकसभा चुनाव के प्रचार के लिए पसीना बहाते हुए अपनी ओर से हरसंभव कोशिश किए जा रहे हैं. 

इस अंतिम वक्त में उन्हें कोई भी चीज पीछे नहीं हटा सकती और वे गर्मी के अनुकूल पहने कपड़ों एवं संतुलित आहार के साथ धूप से लगातार संघर्ष करते नजर आ रहे हैं. केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा उम्मीदवार बाबुल सुप्रियो सुबह नौ बजे से प्रचार के लिए निकलते हैं. वह अक्सर अपने साथ घर का बना खाना लेकर जाते हैं. 

 

दोपहर को भोजनावकाश के दौरान वह पार्टी के किसी कार्यकर्ता के घर जाकर अपने समर्थकों के साथ अपना खाना बांटते हैं. गायक से नेता बने सुप्रियो ने कहा, “मैं काम करते रहने के लिए शुगर फ्री एवं ग्लुटेन फ्री खाना खाता हूं. हालांकि कई बार ऐसा समय आता है जब लोग मिठाई या शर्बत की पेशकश करते हैं जिसे मैं मना नहीं कर पाता. इसके अलावा संगीत चिलचिलाती धूप में भी मेरा जोश बनाए रखता है. मैं खुद को संतुलित बनाए रखने के लिए गीत गुनगुनाता रहता हूं.” 

सुप्रियो की ही तरह कृष्णानगर से भाजपा प्रत्याशी कल्याण चौबे अपनी गाड़ी में फल, नारियल, पानी एवं दही लेकर चलते हैं. चौबे पदयात्रा एवं रोड शो के लिए अपने कपड़ों को लेकर खास सावधानी बरतते हैं. 

उन्होंने कहा, “दोपहर के वक्त मैं लिनन के कपड़े पहनता हूं और पानी की कमी न हो, इसलिए खूब नारियल पानी पीता हूं. मैं शाकाहारी हूं इसलिए मेरे खाने में आम तौर पर रोटी, दाल और सब्जियां रहती हैं.’’  प्रिवेंटिव मेडिसिन के विशेषज्ञ डॉ देबाशीष बसु के मुताबिक, धूप में रहने के दौरान पानी की कमी से बचने के लिए द्रव्य एवं तेल मुक्त भोजन लेना चाहिए.