close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महागठबंधन में घमासान, तेजस्वी यादव के अपील के बावजूद चतरा में कांग्रेस ने किया प्रत्याशी का ऐलान

झारखंड में कांग्रेस ने भी चतरा सीट से उम्मीदवार का ऐलान किया है. जबकि आरजेडी ने आज अपने उम्मीदवार का नामांकन कराया है.

महागठबंधन में घमासान, तेजस्वी यादव के अपील के बावजूद चतरा में कांग्रेस ने किया प्रत्याशी का ऐलान
तेजस्वी यादव ने कांग्रेस से चतरा सीट पर उम्मीदवार नहीं उतारने की अपील की थी. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः झारखंड महागठबंधन में सहयोगी दलों के बीच घमासान कम होने का नाम नहीं ले रहा है. झारखंड में कांग्रेस और आरजेडी अब आमने-सामने दिख रही है. महागठबंधन में चतरा सीट आरजेडी के खाते में दी गई थी. लेकिन पार्टी ने चतरा और पलामू दोनों सीट से उम्मीदवार खड़े किए थे. जिसके बाद अब कांग्रेस ने भी चतरा सीट से उम्मीदवार का ऐलान कर दिया है. हालांकि आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कांग्रेस से चतरा सीट पर उम्मीदवार नहीं उतारने की अपील की थी.

झारखंड महागठबंधन में आरजेडी और कांग्रेस में जंग छीड़ गई है. आरजेडी ने महागठबंधन के फैसले के खिलाफ पलामू सीट पर उम्मीदवार का ऐलान किया था. वहीं, कांग्रेस ने कहा था कि आरजेडी को एक सीट चतरा दी गई है. इस सीट पर कांग्रेस अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी. लेकिन आरजेडी के बगावत के बाद कांग्रेस ने भी चतरा सीट से उम्मीदवार का ऐलान कर दिया है.

वहीं, तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को कांग्रेस से अपील की थी कि वह चतरा सीट से उम्मीदवार खड़े न करें. तेजस्वी यादव यहां अपने उम्मीदवार सुभाष यादव का नामांकन कराने पहुंचे थे. साथ ही उन्होंने सभा को संबोधित किया. लेकिन उनकी अपील को दरकिनार करते हुए चतरा सीट से कांग्रेस ने मनोज कुमार यादव को उम्मीदवार बनाया है.

आरजेडी प्रत्याशी सुभाष प्रसाद यादव के नामांकन के बाद स्थानीय जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित सभा में तेजस्‍वी ने कांग्रेस से महागठबंधन की मजबूती का हवाला देते हुए चतरा सीट छोड़ने की अपील की. उन्होंने कहा कि चतरा में राजद का बड़ा जनाधार है. कांग्रेस यहां से चुनाव लड़ने की जिद छोड़ दे.

बता दें कि कांग्रेस ने महागठबंधन में सीट शेयरिंग में चतरा सीट आरजेडी को दिया था. हालांकि आरजेडी दो सीट चतरा और पलामू के लिए अड़ी थी. आरजेडी ने पलामू सीट पर फैंडली चुनाव लड़ने की बात कही थी. जिसपर कांग्रेस ने कहा कि किसी भी सीट पर फैंडली चुनाव नहीं लड़ा जाएगा.