close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कांग्रेस ने किया दावा, छत्तीसगढ़ में इस बार 11 में से 11 लोकसभा सीटों पर जीतेगी पार्टी

 छत्तीसगढ़ निर्माण के बाद चार विधानसभा चुनाव हुए जिसमें तीन बार भाजपा ने सत्ता पर कब्जा जमाया और चौथे विधानसभा चुनाव में जनता ने कांग्रेस को बंपर मतों से जीता कर सत्ता में बैठाया है.

कांग्रेस ने किया दावा, छत्तीसगढ़ में इस बार 11 में से 11 लोकसभा सीटों पर जीतेगी पार्टी
कांग्रेस का दावा है कि प्रदेश में कांग्रेस को भाजपा से 10 प्रतिशत ज्यादा मत मिलेंगे (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः छत्तीसगढ़ निर्माण के बाद आम चुनाव में जिस पार्टी की प्रदेश में सरकार रही है उसी पार्टी के सांसद पर जनता ने भरोसा जताया है. उसी भरोसे पर कांग्रेस खरी उतरेगी या नहीं ये कह पाना मुश्किल है, लेकिन कांग्रेस का दावा है कि छत्तीसगढ़ की जनता ने 2004, 09 और 14 में भाजपा का साथ दिया था, लेकिन इस बार कांग्रेस की प्रदेश में सरकार है और पार्टी यहां 11 में 11 लोकसभा सीट जीतेगी. छत्तीसगढ़ निर्माण के बाद चार विधानसभा चुनाव हुए जिसमें तीन बार भाजपा ने सत्ता पर कब्जा जमाया और चौथे विधानसभा चुनाव में जनता ने कांग्रेस को बंपर मतों से जीता कर सत्ता में बैठाया है.

छत्तीसगढ़ की जनता की तासीर राज्य निर्माण के बाद सत्ता पक्ष के साथ रही है. यही वजह कि तीन बार भाजपा की सरकार के दौरान लोकसभा की 11 सीट में भाजपा 10 सीट जीतती आई है, जबकि विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच जीत का अंतर प्रतिशत मामूली रहा जो लोकसभा चुनाव में भाजपा को कांग्रेस की तुलना में 10 प्रतिशत तक मत ज्यादा मिले. ऐसे में कांग्रेस दावा कर रही है कि इस बार कांग्रेस की सत्ता है और लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को भाजपा से करीब 10 प्रतिशत तक मत ज्यादा मिलेंगे. ऐसे में कांग्रेस को 11 में 11 लोकसभा सीट मिलेंगी.

शरद पवार को आ रहा है प्रधानमंत्री बनने का सपना, VIDEO देख आप भी कहेंगे ये क्या!

भाजपा प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने का कहना है कि छत्तीसगढ़ की जनता तीन बार भाजपा का साथ दिया है, लेकिन इस बार कांग्रेस की 4 महीने की सरकार में जनता त्रस्त हो गई है. बिजली की कटौती हो रही किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ, विकास कार्य रुक हुए हैं. कर्मचारी को वेतन नहीं मिल रहा है. कांग्रेस से त्रस्त जनता भाजपा के साथ है और भाजपा 11 में 11 लोकसभा सीट जीतेगी.

क्या राहुल गाँधी पीएम मोदी के राजीव गाँधी के नाम पर चुनाव लड़ने वाला चैलेंज स्वीकार करेंगे?

बता दें 2003 में भाजपा को 39.26 प्रतिशत मत के साथ 50 सीट मिली कांग्रेस को 36.71 मत मिले और 37 सीट मिली, जिसमें 2.55 प्रतिशत भाजपा को ज्यादा वोट मिले. 2004 में लोकसभा में भाजपा ने 11 में 10 सीट जीती. 2008 में भाजपा को 40.33 प्रतिशत मत मिले भाजपा ने 50 सीट जीती और कांग्रेस को 38.63 प्रतिशत मत मिले और 38 सीट जीती.  2009 में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा को फिर 10 सीट मिली कांग्रेस 1 ही सीट जीत पाई. 2013 में फिर भाजपा को 41 प्रतिशत वोट मिला और सीट 49 जीती कांग्रेस को 40.3 प्रतिशत वोट मिला और सीट 39 जीती विधानसभा के बाद लोकसभा चुनाव में भाजपा ने फिर 11 सीट में 10 सीट जीती.