close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: शत्रुघ्न सिन्हा की फ‍ि‍सली जुबान, बिहार कांग्रेस प्रभारी को बताया 'BJP का Backbone'

शत्रुघ्न सिन्हा ने कांग्रेस पार्टी में शामिल होने के समय शक्ति सिंह गोहिल को भारतीय जनता पार्टी का बैकबोन बता दिया.

VIDEO: शत्रुघ्न सिन्हा की फ‍ि‍सली जुबान, बिहार कांग्रेस प्रभारी को बताया 'BJP का Backbone'
शत्रुघ्न सिन्हा ने कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है.

नई दिल्लीः बीजेपी से बगावत कर शत्रुघ्न सिन्हा अब कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. शनिवार को सिन्हा ने बीजेपी का दामन छोड़ कांग्रेस का हाथ थाम लिया. हालांकि कांग्रेस में शामिल होने तक वह बीजेपी में ही थे. इसलिए उनके जुबान पर कांग्रेस ज्वाइन करते वक्त भी अपने संबोधन में कांग्रेस नेता को बीजेपी का बैकबोन बता दिया.

दरअसल, शत्रुघ्न सिन्हा जब कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर रहे थे, तो वहां पार्टी के बड़े-बड़े नेता मौजूद थे. जिसमें रणदीप सुरजेवाला, शक्ति सिंह गोहिल, मदन मोहन झा जैसे नेता शामिल थे. शत्रुघ्न सिन्हा ने मीडिया को जब संबोधित करना शुरू किया तो उन्होंने कहा कि उन्हें रणदीप सुरजेवाला ने ही कांग्रेस पार्टी के बारे में ठीक से अवगत कराया.

वहीं, उन्होंने कहा कि शक्ति सिंह गोहिल भारतीय जनता पार्टी के बैकबोन है विशेषकर गुजरात और बिहार में, लेकिन इस शब्द के बाद ही मीडिया वालों ने उन्हें टोका आप गोहिल को भारतीय जनता पार्टी का नेता बता रहे हैं. तो उन्होंने कहा वह थोड़ा आ जाता है क्योंकि आज भारतीय जनता पार्टी का स्थापना दिवस है. अभी नया खिलाड़ी हूं लेकिन बाद में आदत हो जाएगी.

इसके बाद ही उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को स्थापना दिवस के लिए शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा कि बीजेपी में उनकी परवरिश हुई है. लेकिन उन्होंने कहा कि पब्लिक लाइफ में मुझे ले जाने वाले कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय हैं.

इसके बाद उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधना शुरू किया. उन्होंने कहा कि बीजेपी में मैंने लोकशाही के साथ परिवर्तन होते ही तानाशाही में बदल गया. उन्होंने इस बात के लिए भी नाराजगी जताई कि 2014 में जब केंद्र में नरेंद्र मोदी की नेतृत्व वाली एनडीए की सरकार बनी तो उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया. साथ ही बीजेपी में अरुण शौरी, मुरली मनोहर जोशी, जसवंत सिंह और यसवंत सिन्हा सरीखे कई काबिल नेताओं को मंत्री नहीं बनाया गया.

यह भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा- 'परिवार की चापलूसी कर रहे हैं शत्रुघ्न सिन्हा'

शत्रुघ्न सिन्हा ने आरोप लगाया कि सभी काबिल नेताओं को मार्गदर्शक मंडल में डाल दिया गया, जिसकी आज तक एक भी मीटिंग नहीं हुई. साथ ही उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि लाल कृष्ण आडवाणी के करीबी होने की वजह से उनका बीजेपी में पत्ता काटा गया.

बता दें कि कांग्रेस ज्वाइन करते ही शत्रुघ्न सिन्हा को पार्टी ने बिहार के पटना साहिब सीट से उम्मीदवार घोषित किया है.