close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुप्रीम कोर्ट क्‍यों नहीं चाहता VVPAT पर्चियों की जांच हो, क्या वो भी धांधली में शामिल है- उदित राज

उदित ट्विट करके कहा कि सुप्रीम कोर्ट VVPAT पर्चियों की जांच क्यूं नहीं कराना चाहता कहीं पर्चियों की धांधली में भाजपा के साथ उसका भी हांथ तो नहीं है.

सुप्रीम कोर्ट क्‍यों नहीं चाहता VVPAT पर्चियों की जांच हो, क्या वो भी धांधली में शामिल है- उदित राज
उन्होंने चुनाव आयोग पर भी आरोप लगाते हुए कहा था कि भाजपा और चुनाव आयोग दोनों आपस में मिले हुए हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले कांग्रेस नेता उदित राज ऩे फिर एक बार विवादित बयान दिया है. इस बार उन्‍होंने किसी व्यक्ति या नेता पर नहीं बल्कि देश के सर्वोच्‍च न्यायालय पर विवादित बयान दिया है. एग्जिट पोल के आंकड़ों के बाद उदित राज ने ईवीएम मामले में सीधे तौर पर सुप्रीम कोर्ट को ही घेरे में लिया है.

ईवीएम और वीवीपैट को लेकर हो रही चर्चा पर उदित राज ने कोर्ट पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उदितराज ने ट्वीट करके कहा कि सुप्रीम कोर्ट VVPAT पर्चियों की जांच क्‍यों नहीं कराना चाहता. कहीं पर्चियों की धांधली में क्‍या वो भी शा‍मिल है. उन्होंने कहा कि चुनावों के कारण पिछले दो तीन महीने से सभी सरकारी काम बंद पड़े हुए हैं. ऐसे में अगर पर्चियों की गिनती में दो-तीन दिन लग जाएंगे तो क्या हो जाएगा. 

 

EXIT POLL की बात हुई पुरानी, सही चुनाव परिणाम चाहते हैं तो ये पढ़ लीजिए

आपको बता दें कि उदित राज विवादित बयान देते रहे हैं और वे अक्सर देश की संवैधानिक संस्थाओं पर सवाल उठाते रहे हैं. अभी कुछ दिन पहले ही उन्होंने चुनाव आयोग पर भी आरोप लगाते हुए कहा था कि भाजपा और चुनाव आयोग दोनों आपस में मिले हुए हैं और भाजपा आसानी से ईवीएम को बदल सके इसीलिए सात चरणों में चुनाव कराए गए हैं.

इसके साथ ही उन्होंन कहा था कि अगर ऐसे गुलामों से बचना है तो आन्दोलन करना पड़ेगा. एक दिन पहले उदित राज ने एक बयान में कहा था कि केरल में आज तक भाजपा ने एक भी सीट नहीं जीती ऐसा इसलिए क्योंकि वहां कि जनता पढ़ी लिखी है.