close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गौतम गंभीर पर लगे 2 वोटर कार्ड रखने के आरोप पर कोर्ट 13 मई को सुनाएगा आदेश

अधिवक्ता मोहम्मद इरशाद द्वारा दायर याचिका में आरोप लगाया गया कि गंभीर ने जानबूझकर और गैरकानूनी तरीके से करोल बाग और राजेंद्र नगर निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाता के रूप में पंजीकरण कराया है. 

गौतम गंभीर पर लगे 2 वोटर कार्ड रखने के आरोप पर कोर्ट 13 मई को सुनाएगा आदेश
इससे पहले गौतम गंभीर को निर्वाचन अधिकारियों ने कथित तौर पर एक राष्ट्रीय अखबार में उनकी तस्वीर वाला विज्ञापन छपने पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के सिलसिले में कारण बताओ नोटिस जारी किया था.

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने गौतम गंभीर के मामले में राज्य निर्वाचन आयोग का रिकार्ड मंगाने के लिये आप नेता आतिशी मार्लिना की याचिका पर सोमवार को सुनवाई करते हुए आदेश 13 मई के लिये सुरक्षित कर लिया. आतिशी ने राज्य चुनाव आयोग में आरोप लगाया है कि उनके प्रतिद्वंद्वी बीजेपी उम्मीदवार गौतम गंभीर का नाम दो निर्वाचन क्षेत्रों की मतदाता सूची में दर्ज है. मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट विप्लव डबास ने आतिशी की याचिका पर सुनवाई के बाद कहा कि इस पर 13 मई को आदेश दिया जायेगा. आतिशी पूर्वी दिल्ली से लोकसभा उम्मीदवार है.

अदालत ने इससे पहले आतिशी से यह साबित करने के लिये कहा था कि वह किस हैसियत से उन्होंने यह याचिका दायर की है. अधिवक्ता मोहम्मद इरशाद द्वारा दायर याचिका में आरोप लगाया गया कि गंभीर ने जानबूझकर और गैरकानूनी तरीके से करोल बाग और राजेंद्र नगर निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाता के रूप में पंजीकरण कराया है. 

आचार संहिता उल्लंघन का भी लग चुका है आरोप
इससे पहले गौतम गंभीर को निर्वाचन अधिकारियों ने कथित तौर पर एक राष्ट्रीय अखबार में उनकी तस्वीर वाला विज्ञापन छपने पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के सिलसिले में कारण बताओ नोटिस जारी किया था. पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक पूर्वी दिल्ली के मीडिया प्रमाणन और निगरानी समिति ने 26 अप्रैल को अखबार में आए एक विज्ञापन पर संज्ञान लिया जिसमें एक क्रिकेट गेम एप-क्रिकप्ले- का प्रचार करते हुए साथ में गंभीर की तस्वीर आई थी. 

क्या कहा गया नोटिस में?
इसमें कहा गया, 'यह एक छद्म विज्ञापन लगता है जो एक खास राजनीतिक दल की तरफ से चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार के पक्ष में राजनीतिक पहल नजर आता है और यह आदर्श आचार संहिता के विपरीत है.'  नोटिस के मुताबिक, ‘अब मेरे साथ इंडिया खेलेगा’ टैगलाइन वाले विज्ञापन इस खेल के विजेताओं को रोज नकद इनाम दिए जाने का भी जिक्र है. 

गंभीर और प्रकाशन को 29 अप्रैल को जारी नोटिस में दो मई तक निर्वाचन आयोग द्वारा गठित मीडिया प्रमाणन और निगरानी समिति से हासिल दस्तावेज पेश करने को निर्देश दिया गया था. बता दें बीजेपी ने मौजूदा सांसद महेश गिरी की जगह गंभीर को पूर्वी दिल्ली संसदीय सीट से उम्मीदवार बनाया है.