लोकसभा चुनावः बिहार तीसरे मोर्चे की ओर अग्रसर, पप्पू और कन्हैया दोनों ने दिया एक दूसरे को समर्थन

बिहार के बेगूसराय से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के उम्मीदवार कन्हैया कुमार ने मधेपुरा के सांसद पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी (लो) को समर्थन देने की घोषणा की है.

लोकसभा चुनावः बिहार तीसरे मोर्चे की ओर अग्रसर, पप्पू और कन्हैया दोनों ने दिया एक दूसरे को समर्थन
पप्पू यादव और कन्हैया ने एक दूसरे को समर्थन दिया है. (फाइल फोटो)

बेगूसरायः बिहार के बेगूसराय से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के उम्मीदवार कन्हैया कुमार ने मधेपुरा के सांसद पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी (लो) को समर्थन देने की घोषणा की है. इससे पहले पप्पू यादव ने भी कन्हैया को समर्थन देने की बात कही थी. वहीं, महागठबंधन से अलग रखने को लेकर तीसरा मोर्चा बनाने की चेतावनी भी दी थी.

बता दें कि विपक्षी दलों के महागठबंधन में जगह नहीं मिलने से नाराज भाकपा ने बेगूसराय से चुनावी मैदान में कन्हैया को उतारने की घोषणा की है. कन्हैया ने बुधवार को यहां एक आमसभा में मधेपुरा के सांसद पप्पू यादव के काम की तारीफ की और कहा कि उनकी लड़ाई नफरत फैलाने वाली ताकतों के खिलाफ है. 

उन्होंने कहा, "मैं और पप्पू यादव भी साफ कर चुके हैं कि उनकी लड़ाई महागठबंधन के खिलाफ नहीं, बल्कि भाजपा की अगुवाई वाले राजग के खिलाफ है." हालांकि पप्पू यादव आरजेडी के खिलाफ आग उगल रहे हैं. उनका कहना है कि आरजेडी महागठबंधन को कमजोर कर रही है और वह कांग्रेस, कन्हैया और पप्पू यादव के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है.

कन्हैया कुमार ने मधेपुरा में पप्पू यादव के करवाए गए काम की तारीफ की. उन्होंने कहा, "हमारी लड़ाई देश में नफरत फैलाने वाली ताकतों के खिलाफ है, जिसके लिए देश भर में जनता ने गठबंधन बनाया है. मोहब्बत का गठबंधन बनाया है. हम मधेपुरा की जनता से भी अपील करते हैं कि वे अपना आशीर्वाद पप्पू यादव को दें." 

वहीं, खबरों के मुताबिक आरजेडी ने कहा है कि पप्पू यादव अगर मधेपुरा से चुनाव लड़ा तो सुपौल से आरजेडी भी अपने उम्मीदवार उतारेगी. ऐसे में पप्पू यादव की पत्नी के लिए समस्या खड़ी हो जाएगी. क्योंकि पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन कांग्रेस से सुपौल से सांसद है और माना जा रहा है कि सुपौल सीट से रंजीता को ही उम्मीदवार बनाया जाएगा.

आरजेडी के इस दांव से पप्पू यादव ने आरजेडी को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर मुझे और रंजीता रंजन को छेड़ा गया तो वह भी पीछे नहीं हटेंगे. बल्कि, बिहार में तीसरे मोर्चा बनाएंगे. जन अधिकार पार्टी, सीपीआई, सीपीएम, माले, सपा, बसपा, और अन्य के साथ मिलकर गठबंधन बनायेंगे और कन्हैया को भी सपोर्ट कैरेंगे.