सीताराम येचुरी का विवादित बयान, पीएम मोदी-अमित शाह की तुलना दुर्योधन और दुशासन से की

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने हावड़ा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए यह बयान दिया.

सीताराम येचुरी का विवादित बयान, पीएम मोदी-अमित शाह की तुलना दुर्योधन और दुशासन से की
सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने हावड़ा में यह विवादित बयान दिया. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली : लोकसभा चुनाव 2019 का दौर चल रहा है और राजनेताओं का विवादित बयान देने का सिलसिला जारी है. इसी बीच माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने हावड़ा में विवादित बयान देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह की तुलना दुर्योधन और दुशासन से कर डाली. उन्‍होंने कहा कि जैसी नौबत कौरवों के साथ महाभारत में हुई थी, वैसी ही मौजूदा राजनीति की महाभारत में होगी.

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने हावड़ा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए यह बयान दिया. उन्‍होंने कहा कि 100 कौरवों में से आपको दो भाईयों के नाम याद हैं- दुर्योधन और दुशासन. दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के अंदर अपको कितने लोगों के नाम याद हैं? नरेंद्र मोदी और अमित शाह. जो नौबत महाभारत में कौरवों की हुई थी, अब यहां राजनीतिक महाभारत में हो रही है.

येचुरी ने कहा कि ये याद रखिएगा, जो एक तरफ की सांप्रदायिकता है, वो दूसरे तरफ की कट्टरता को मजबूत करती है. अगर हिन्दुत्व सांप्रदायिकता मजबूत होती है तो साथ ही साथ उसके विरोध में मुस्लिम मुस्लिम कट्टरवाद भी मजबूत होता है. इनमें यदि एक मजबूत होता है तो दूसरा भी मजबूत होता है. दोनों अपने आप को बढ़ाते जाते हैं और यही TMC और BJP के बीच सांठगांठ है. 

sitaram yechuri

उन्‍होंने कहा कि दोनों दलों की राजनीतिक और सैद्धांतिक सांठगाठ यही है. दोनों प्रतिस्पर्धी सांप्रदायिकता में लगे रहते हैं. इसके चलते ये किसी राजनीतिक ताकत के लिए कोई जगह न छोड़ते.  यानी पूरा का पूरा राजनीतिक प्रतिद्ंवद उनके बीच ही होता है. और एक गलत तरीके से माहौल बनाते हैं कि TMC को हराना है तो BJP को जीताना है और बीजेपी को हराना है तो TMC को जीताना है. इस तरह शारदा चिट फण्ड घोटाला में कुछ नहीं होगा. 

उन्‍होंने ममता बनर्जी पर हमला करते हुए यहां तक कहा कि वह तो गुजरात के दंगों के बाद जरूरत पड़ने पर केंद्र में मंत्री भी बन गईं.