close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पश्चिम बंगाल की चुनावी हिंसा के शिकार BJP वर्करों के परिजन पहुंचे दिल्ली, PM के शपथ ग्रहण में लेंगे हिस्सा

ममता बनर्जी ने इस समारोह में शामिल न होने का कारण बताते हुए कहा, 'वे बीजपी के इस आरोप पर कड़ी आपत्ति जताते हुए शामिल नहीं होंगी कि उसके 54 कार्यकर्ताओं की पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा में हत्या कर दी गई.'

पश्चिम बंगाल की चुनावी हिंसा के शिकार BJP वर्करों के परिजन पहुंचे दिल्ली, PM के शपथ ग्रहण में लेंगे हिस्सा
फोटो सौजन्य: ANI

नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव 2019 में प्रचंड जीत के बाद आज नरेंद्र मोदी लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे है. राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में देश विदेश के मेहमानों के साथ साथ पश्चिम बंगाल में चुनावी हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवारों को भी निमंत्रण भेजा गया था. गुरुवार सुबह पश्चिम बंगाल बीजेपी के उन 54 कार्यकर्ताओं के परिवार के सदस्य दिल्ली पहुंचे जो चुनावी हिंसा में मारे गए थे. बता दें कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को भी मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होन के लिए निमंत्रण भेजा गया था लेकिन उन्होंने इस समारोह में शामिल होने से इनकार कर दिया. 

ममता बनर्जी ने इस समारोह में शामिल न होने का कारण बताते हुए कहा, 'वे बीजपी के इस आरोप पर कड़ी आपत्ति जताते हुए शामिल नहीं होंगी कि उसके 54 कार्यकर्ताओं की पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा में हत्या कर दी गई.'

 

ममता नैहाटी नगर पालिका के बाहर तृणमूल के धरना में शामिल होंगी
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी लोकसभा चुनाव के नतीजों की घोषणा के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा के विरोध में आज नैहाटी नगरपालिका के बाहर तृणमूल कांग्रेस द्वारा आयोजित धरना- प्रदर्शन में शामिल होंगी.

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘बीजेपी के गुंडों द्वारा अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को बेघर किए जाने के विरोध में हम कल (गुरुवार) नैहाटी नगरपालिका के बाहर धरना का आयोजन करेंगे. हमारी पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी भी इसमें शामिल होंगी.’’ इससे पहले ममता बनर्जी ने कहा था कि वह प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगी. उन्होंने इसके लिए बीजेपी के दावे का जिक्र किया कि बंगाल में राजनीतिक हिंसा में भगवा पार्टी के 54 कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है. ममता ने इस दावे को भूठा करार दिया . 

ममता की इस घोषणा के कुछ घंटों बाद यह फैसला किया गया. इससे पहले मंगलवार को ममता ने इस बात की पुष्टि की थी कि वह 30 मई को मोदी के शपथग्रहण समारोह में शामिल होंगी.

(इनपुट एजेंसी भाषा से भी)