close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिग्विजय सिंह और साध्वी प्रज्ञा ने नहीं दिया चुनावी खर्च का सही हिसाब, नोटिस जारी

 भोपाल संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह और भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह दोनों ने ही चुनावी खर्च का सही हिसाब नहीं दिया है, जिससे दोनों ही उम्मीदवारों को चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर चुनावी खर्च का सही-सही हिसाब देने को कहा है.

दिग्विजय सिंह और साध्वी प्रज्ञा ने नहीं दिया चुनावी खर्च का सही हिसाब, नोटिस जारी
फाइल फोटो

भोपालः मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट प्रदेश ही नहीं देशभर में चर्चा का विषय बनी हुई है. कभी अपने प्रत्याशियों को लेकर तो कभी इनकी बयानबाजी के चलते, भोपाल संसदीय क्षेत्र हर तरफ हॉट टॉपिक बनी हुई है. ऐसे में अब चुनावी खर्च के चलते भी यह लोगों के बीच चर्चा का कारण बन गई है. दरअसल, भोपाल संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह और भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह दोनों ने ही चुनावी खर्च का सही हिसाब नहीं दिया है, जिससे दोनों ही उम्मीदवारों को चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर चुनावी खर्च का सही-सही हिसाब देने को कहा है.

बता दें भोपाल में अभी तक कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह खर्च के मामले में सबसे आगे चल रहे हैं. जिला निर्वाचन की मॉनिटरिंग के मुताबिक दिग्विजय सिंह चुनाव प्रचार में अभी तक 39.47 लाख से ज्यादा की राशि खर्च कर चुके हैं. वहीं भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा 13.51 लाख रुपये चुनावी प्रचार-प्रसार के दौरान फूंक चुकी हैं, लेकिन दोनों ही उम्मीदवारों से जब चुनाव आयोग ने इसका पूरा ब्यौरा मांगा, तो दोनों ही प्रत्याशियों ने खर्च का सही हिसाब नहीं दिया. जिसके बाद चुनाव आयोग ने दोनों ही प्रत्याशियों को नोटिस जारी कर इस पर स्पष्टीकरण मांगा है.

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने दूसरे दिन भी मंदिरों में की पूजा-अर्चना, गाए भजन

दिग्विजय सिंह ने अपना चुनाव खर्च को 21.30 लाख तो साध्वी प्रज्ञा ने 6.27 लाख बताया है. वहीं चुनाव आयोग के चुनाव खर्च का हिसाब रखने वाले शेडो रजिस्टर से पता चला है कि जो हिसाब दोनों प्रत्याशियों ने दिया है वह गलत है. इस रजिस्टर के मुताबिक दिग्विजय सिंह ने 18.17 लाख तो साध्वी प्रज्ञा ने 7.24 लाख रुपये कम खर्च बताया है. प्रत्याशियों के दिए हिसाब और रजिस्टर में मिले हिसाब में मिली विसंगतियां देखने पर जिला निर्वाचन अधिकारी और कलेक्टर डॉ सुदाम पी खाडे ने दोनों ही उम्मीदवारों को नोटिस जारी कर दिया है और इस पर यूनिटवार, आईटमवार और मदवार स्पष्टीकरण मांगा है.

उमा भारती से मिलकर खूब रोईं साध्वी प्रज्ञा, कांग्रेस नेता बोले- राजनीतिक लालसा के लिए 2 साध्वियों का विलाप

चुनाव आयोग के मुताबिक अगर दोनों प्रत्याशी 48 घंटे के अंदर सही जानकारी नहीं देते तो शेडो रजिस्टर की जानकारी उनके खाते में दर्ज कर दी जाएगी. बता दें भोपाल लोकसभा क्षेत्र से सभी 30 उम्मीदवारों को चुनाव प्रचार में खर्च की जा रही राशि का हिसाब किताब देने को कहा गया था, जिसमें से कुल 28 उम्मीदवारों ने व्यय रजिस्टर पेश किए.