close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नागौर: शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए जिला प्रशासन ने की तैयारियां पूरी, 201 सेक्टर मजिस्ट्रेट की होगी तैनाती

नागौर संसदीय सीट के लिए मतदान 6 मई तथा राजसमंद सीट के लिए मतदान इससे पूर्व 29 अप्रैल को होना है. जिला प्रशासन मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन कर रही है.  

नागौर: शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए जिला प्रशासन ने की तैयारियां पूरी, 201 सेक्टर मजिस्ट्रेट की होगी तैनाती
नागौर एवं राजसमंद लोकसभा सीट पर दो चरणों में चुनाव होने जा रहा है. (फाइल फोटो)

मनोज सोनी, नागौर: प्रदेश के नागौर जिले में जिला प्रशासन ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए तैयारियां पूरी कर ली है. जिले के अंतर्गत आने वाले दो लोकसभा क्षेत्रों में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष रूप से मतदान के लिए प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद किया है. बताया जा रहा है कि जिले की अति संवेदनशील क्षेत्रों में 201 क्षेत्रों में मतदान के दौरान 201 सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है. इसके अलावा वेब कास्टिंग की व्यवस्था की गई है. 

जी मीडिया से बातचीत में जिला कलेक्टर दिनेश यादव ने बताया कि नागौर एवं राजसमंद लोकसभा क्षेत्र में दो चरणों में चुनाव होने जा रहा है. जिसके लिए जिला प्रशासन ने त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था कर रखी है. नागौर संसदीय सीट के अंतर्गत आने वाले आठ विधानसभा क्षेत्रों के कुल 19 लाख 13 हजार 46 मतदाता अपना मतदान करेंगे. नागौर संसदीय क्षेत्र में आठ विधानसभा क्षेत्र और जिले के दो विधानसभा क्षेत्र मेड़ता व डेगाना राजसमंद संसदीय क्षेत्र में आता है.

जिले में कुल 24 लाख 9 हजार 237 मतदाता
उन्होंने यह भी बताया कि जिले में कुल 24 लाख 9 हजार 237 मतदाता हैं, जिनमें से नागौर संसदीय क्षेत्र में 19 लाख 13 हजार 46 मतदाता आते हैं. इनके अलावा डेगाना व मेड़ता विधानसभा क्षेत्र के 4 लाख 96 हजार 191 मतदाता राजसमंद संसदीय क्षेत्र के लिए होने वाले चुनाव में अपने मत का प्रयोग करेंगे. नागौर संसदीय क्षेत्र में 18 से 19 वर्ष आयु वर्ग के कुल 1 लाख 49 हजार 127 मतदाता हैं. वहीं, राजसमंद संसदीय क्षेत्र में आने वाले मेड़ता व डेगाना विधानसभा क्षेत्र में 11 हजार 160 मतदाता 18 से 19 वर्ष आयु वर्ग में हैं.

2506 मतदान केन्द्र स्थापित 
उन्होंने बताया कि जिले में कुल 2506 मतदान केन्द्र स्थापित किए गए हैं. इनके अतिरिक्त कुल 28 सहायक मतदान केन्द्र स्थापित किए गए है. मतदान दिवस के दिन जिले में कुल 221 सेक्टर अधिकारियों की नियुक्ति की गई है. 

आदर्श आचार संहिता का होगा पालन 
उन्होंने यह भी बताया कि जिले में आदर्श आचार संहिता का अक्षरशः पालन होगा. लोकसभा चुनाव की तारीख की घोषणा के बाद से ही जिले में आदर्श आचार संहिता प्रभावी हो गई है. आचार संहिता के अंतर्गत स्थानांतरण, पोस्टर, बैनर, होर्डिंग्स, दीवार लेखन इत्यादि के माध्यम से प्रचार-प्रसार इत्यादि पर रोक रहेगी. मतदान से 48 घंटे पहले तक सभी प्रकार के प्रचार-प्रसार पर भी रोक लगा दी जाएगी. 

आचार संहिता उल्लंघन की कर सकते हैं शिकायत
उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति को कहीं भी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन होता दिखे तो वह टोल फ्री नंबर 1950 पर इसकी शिकायत कर सकते हैं. नागौर संसदीय सीट के लिए मतदान 6 मई तथा राजसमंद सीट के लिए मतदान इससे पूर्व 29 अप्रैल को होना है. जिला प्रशासन मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन कर रही है.