लोकसभा चुनाव 2019: पंजाब में चुनाव आयोग ने तय किया चाय-समोसे का रेट, ऐसे होगी निगरानी

पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि अधिकारी के निर्देशों पर जालंधर मंडलीय आयुक्त की अध्यक्षता में एक समिति ने कीमतें तय की.

लोकसभा चुनाव 2019: पंजाब में चुनाव आयोग ने तय किया चाय-समोसे का रेट, ऐसे होगी निगरानी
फाइल फोटो

चंडीगढ़: पंजाब निर्वाचन कार्यालय ने कहा कि अगर कोई चुनाव प्रत्याशी अपने समर्थकों को चाय का एक कप और एक समोसा देते हैं तो इसकी कीमत कम से कम 18 रुपये होनी चाहिए. चुनाव खर्च निगरानी प्रक्रिया के तौर पर राज्य निर्वाचन समिति ने चाय (प्रति कप आठ रुपये) और समोसा (एक 10 रुपये का) समेत 171 चीजों और सेवाओं के लिए कीमतों को मंजूरी दे दी ताकि राजनीतिक दल या उनके उम्मीदवार अपने चुनावी खर्च का बिल देते हुए कम कीमतों का हवाला ना दें. पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एस करुणा राजू ने कहा, ‘‘उम्मीदवारों के खर्चे का निर्धारण करने की जरुरत है.’’ 

उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान इस्तेमाल किए जाने वाली चीजों के लिए मानक कीमतें तय होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि इन कीमतों को अंतिम रूप देने से पहले सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की राय ली जाएगी. लोकसभा के एक उम्मीदवार को चुनाव खर्च के तौर पर 70 लाख रुपये खर्च करने की अनुमति है. भारत के निर्वाचन आयोग ने चुनाव खर्चे की निगरानी करने के लिए भारतीय राजस्व सेवा के वरिष्ठ अधिकारियों को तैनात किया है ताकि उम्मीदवार इस सीमा का उल्लंघन ना कर पाए.

पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि अधिकारी के निर्देशों पर जालंधर मंडलीय आयुक्त की अध्यक्षता में एक समिति ने कीमतें तय की. मंगलवार को जारी की गई सूची में बर्फी 200 रुपये प्रति किलो, बिस्कुट 150 रुपये प्रति किलो, एक ब्रेड पकौड़ा दस रुपये का, एक सैंडविच 15 रुपये और जलेबी 140 रुपये प्रति किलो समेत खाने पीने की विभिन्न चीजों की कीमतें शामिल हैं. ग्रामीण और शहरी इलाकों में किराये के कार्यालयों के लिए मासिक किराया क्रमश: 5,000 रुपये और 10,000 रुपये तय किया गया है.

चुनाव समिति ने बैनरों और पोस्टरों के लिए कपड़े तथा कागजों जैसी चुनाव संबंधित सामग्री के दाम भी तय कर दिए हैं. सूची में कपड़े के बैनरों के लिए आठ रुपये प्रति वर्ग फुट, आम कपड़े का एक झंडा 30 रुपये, मध्यम गुणवत्ता के फ्लेक्स फ्रेम 50 रुपये प्रति वर्ग फुट, फूलों के बैज एक 15 रुपये का, लोहे के फ्रैम वाले होर्डिंग 15 रुपये प्रति वर्ग फुट और रोड के साथ वाले झंडे एक पीस नौ रुपये समेत हरसंभव सामान की कीमतें तय की गई है. हल्के और साउंड सिस्टम किराये पर लेने और संबंधित सेवाओं के लिए शुल्क प्रति दिन 15 रुपये से 5,000 रुपये तय किया गया है.

कार, बस और ऑटो जैसे वाहन किराये पर लेने की दर प्रति दिन 750 रुपये और 3,000 रुपये के बीच होनी चाहिए. नागरिक उड्डयन महानिदेशालय द्वारा पुष्ट कीमतों पर हेलीकॉप्टर किराये पर लिए जाएंगे. सूची में चुनावी रैलियों के दौरान भीड़ का मनोरंजन करने के लिए गायकों को आमंत्रित करने की कीमतें भी तय की गई हैं. मशहूर गायकों के लिए फीस 2,00,000 रुपये या असली बिल तय किया गया है जबकि स्थानीय गायकों के लिए इसे 30,000 या असली बिल तय किया गया है. यहां तक कि इस सूची में गुब्बारों, झाडू, सीसीटीवी कैमरों और ड्रोन कैमरों की कीमत भी तय की गई है.