लोकसभा चुनाव 2019 के पांचवें चरण में बिहार के 86 दिग्गजों का भविष्य EVM में कैद

पांचवें चरण के मतदान में राजीव प्रताप रूड़ी, पशुपति कुमार पारस, डॉ़ शकील अहमद सहित 86 दिग्गजों का राजनीतिक भविष्य ईवीएम में बंद हो गया. 

लोकसभा चुनाव 2019 के पांचवें चरण में बिहार के 86 दिग्गजों का भविष्य EVM में कैद
पांचवें चरण में बिहार के 5 सीटों पर 86 दिग्गज चुनाव मैदान में हैं. (फाइल फोटो)

पटनाः  लोकसभा चुनाव 2019  के पांचवें चरण में बिहार की पांच सीटों पर सोमवार को मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया. इस चरण में 57.86 फीसदी मतदाताओं ने मतदान कर पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूड़ी, पशुपति कुमार पारस, डॉ़ शकील अहमद सहित 86 दिग्गजों का राजनीतिक भविष्य ईवीएम में बंद हो गया. पांचवें चरण में हाजीपुर, सारण, मुजफ्फरपुर, मधुबनी और सीतामढ़ी लोकसभा क्षेत्रों के 87.66 लाख से ज्यादा मतदाताओं के लिए 8,899 मतदान केंद्र बनाए गए थे. 

राज्य निर्वाचन विभाग के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एच़ आऱ श्रीनिवास ने बताया कि सुबह सात बजे से शुरू मतदान छह बजे तक शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया. इसके साथ ही बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से 24 सीटों पर मतदान संपन्न होगा. इससे पूर्व, पहले चरण में 11 अप्रैल को चार लोकसभा क्षेत्रों में तथा दूसरे, तीसरे और चौथे चरण में पांच-पांच लोकसभा क्षेत्रों में मतदान संपन्न हो चुका है. मतगणना 23 मई को होगी. 

उन्होंने बताया कि पांचों सीटों पर औसत 57.83 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. मुजफ्फरपुर में सबसे अधिक 61.30 प्रतिशत मतदान हुआ, जबकि सबसे कम 55.50 प्रतिशत मतदान मधुबनी लोकसभा क्षेत्र में हुआ है. इसके अलावा सीतामढ़ी में 56.90 प्रतिशत, सारण में 58 प्रतिशत तथा हाजीपुर में 57.72 प्रतिशत मतदान हुआ. 

श्रीनिवास ने कहा कि शुरू में कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम खराब होने की सूचना मिली थी, जिन्हें तुरंत दुरुस्त करवाकर मतदान शुरू करवाया गया. इस दौरान छिटपुट घटनाओं को छोड़कर कहीं से किसी बड़ी घटना की सूचना नहीं है. इस क्रम में मतदान बाधित करने के आरोप में 29 लोगों को गिरफ्तार किया गया. 

इस बीच, सारण लोकसभा क्षेत्र में एक मतदाता ने सोनपुर विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 131 पर एक इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को पटककर तोड़ दिया. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया. 

सारण के पुलिस अधीक्षक हरिकिशोर राय ने बताया, "सारण जिले में मतदान शांतिपूर्ण ढंग से चल रहा था, इसी बीच सोनपुर विधानसभा के मतदान केंद्र संख्या 131 पर मतदान करने आए एक मतदाता ने ईवीएम यूनिट को पटककर तोड़ दिया. कुछ समय के लिए मतदान का कार्य बाधित रहा. बाद में बैलेट यूनिट बदल दी गई और फिर से मतदान कार्य शुरू कर दिया गया."

उन्होंने बताया कि ईवीएम तोड़ने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिसकी पहचान सुदर्शन हाजरा के रूप में हुई है. 

इस चरण के चुनाव में हाजीपुर में मुख्य मुकाबला लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के शिवचंद्र राम के बीच है, जबकि सारण में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूड़ी और राजद के चंद्रिका राय आमने-सामने हैं.

मुजफ्फरपुर में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के भाजपा प्रत्याशी अजय निषाद के सामने विपक्षी महागठबंधन से विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के राजभूषण चौधरी हैं. मधुबनी लोकसभा क्षेत्र में भाजपा के अशोक यादव और वीआईपी के बद्री पूर्वे के बीच की जंग में पूर्व सांसद डॉ़ शकील अहमद भी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में उतर आए हैं. 

सीतामढ़ी में राजग की ओर से जद (यू) के सुनील कुमार पिंटू और राजद के अर्जुन राय के बीच कांटे का मुकाबला है. 

इस चरण के चुनाव को लेकर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे. सभी मतदान केंद्रों पर अर्धसैनिक बलों और बिहार सैन्य बल की तैनाती की गई थी. 

बिहार में वर्ष 2014 के चुनाव से लेकर अब स्थिति बदल चुकी है. पिछले चुनाव में जद (यू) अकेले भाजपा के खिलाफ मैदान में थी, लेकिन इस बार जद (यू) और भाजपा साथ में चुनाव लड़ रहे हैं. इन्हें राजद, कांग्रेस और दूसरी पार्टियों से कड़ी चुनौती मिल रही है. 

उल्लेखनीय है कि बिहार की 40 लोकसभा सीटों के लिए सभी सात चरणों में मतदान होना है.