close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

वंशवाद, क्षेत्रवाद, छद्म धर्मनिरपेक्षता की राजनीति को देश ने नकार दिया: गिरिराज

लोकसभा क्षेत्र से एनडीए के प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि वंशवाद, क्षेत्रवाद, जातिवाद और छद्म धर्मनिरपेक्षता की राजनीति करने वाले को देश ने सिरे से नकार दिया.

वंशवाद, क्षेत्रवाद, छद्म धर्मनिरपेक्षता की राजनीति को देश ने नकार दिया: गिरिराज

बेगूसराय: बिहार के लोकसभा क्षेत्र से एनडीए के प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि वंशवाद, क्षेत्रवाद, जातिवाद और छद्म धर्मनिरपेक्षता की राजनीति करने वाले को देश ने सिरे से नकार दिया.

उन्होंने कहा कि यह चुनाव राष्ट्रवाद और गैर-राष्ट्रवाद, विकास और गैर-विकास, धर्मनिरपेक्ष और छद्म धर्मनिरपेक्ष के बीच था. बेगूसराय सीट से रुझानों में 90 हजार वोटों से निर्णायक बढ़त बना चुके गिरिराज सिंह ने आईएएनएस को फोन पर बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश से जातिवाद, वंशवाद और क्षेत्रवाद को समाप्त कर दिया है. 

 

उन्होंने कहा, "बेगूसराय का यह परिणाम ऊपर महादेव, नीचे मोदी और बेगूसराय की जनता की जीत है." भाजपा के फायरब्रांड नेता के रूप में पहचान बनाने वाले सिंह ने कहा कि यह वोटों की लहर नहीं है. यह जनता की आंखों में विपक्ष के लिए नफरत और मोदी जी के लिए प्रेम की लहर है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए गरीब सामने था, वोटबैंक नहीं, जिसे लोगों ने पसंद किया.

बेगूसराय से वामपंथी दलों के साझा उम्मीदवार कन्हैया कुमार के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल के दिल्ली में सत्ता संभालने के बाद कुछ लोगों को ऐसा लगा कि वे देश की दिशा बदल सकते हैं परंतु देश ही नहीं बेगूसराय की जनता ने भी उन्हें पूरी तरह से नकार दिया. 

महागठबंधन को सलाह देने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "मुझमें इतनी क्षमता नहीं की मैं किसी को सलाह दूं. परंतु महागठबंधन के नेताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीख लेनी चाहिए."