close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हिंदी बेल्ट राज्य बीजेपी के लिए बने सत्ता की कुंजी, बढ़ा वोट प्रतिशत

मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में हाल के विधानसभा चुनाव में पराजय और उत्तर प्रदेश में सपा, बसपा गठबंधन के बाद भाजपा के लिये चुनौती बड़ी मानी जा रही थी.

हिंदी बेल्ट राज्य बीजेपी के लिए बने सत्ता की कुंजी, बढ़ा वोट प्रतिशत
हिन्दी पट्टी के 10 राज्यों में 2014 चुनाव में भाजपा की जीत का स्ट्राइक रेट 85 प्रतिशत था.

नई दिल्ली: हिन्दी पट्टी के राज्य भाजपा के लिये एक बार फिर सत्ता की कुंजी बनकर उभरे है और इन राज्यों में लगभग 90 प्रतिशत के स्ट्राइक रेट के साथ भाजपा लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत हासिल करने में सफल रही.

हिन्दी पट्टी के 10 राज्यों में 2014 चुनाव में भाजपा की जीत का स्ट्राइक रेट 85 प्रतिशत था. 

चुनाव के परिणाम और रूझानों के अनुसार, भाजपा हिन्दी पट्टी के 10 राज्यों उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और राजस्थान में 225 सीटों में 199 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है या जीत चुकी है. 

बिहार में भाजपा एवं सहयोगी दल 39 सीटों पर आगे हैं या जीत चुके हैं जबकि छत्तीसगढ़ में पार्टी 9 सीटों पर बढ़त बनाये है या जीत चुकी है हरियाणा में भाजपा 10 सीटों पर और हिमाचल प्रदेश में पार्टी 4 सीट तथा उत्तराखंड में 5 सीटों पर या तो बढ़त बनाये हुए है या जीत दर्ज कर चुकी है. 

उत्तरप्रदेश में भाजपा एवं सहयोगी दल 62 सीटों पर या तो बढ़त बनाये हुए है या जीत दर्ज कर चुके हैं. मध्यप्रदेश में पार्टी 28 सीटों पर और राजस्थान में भाजपा 24 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है या जीत दर्ज कर चुकी है. दिल्ली में भाजपा सातों सीट पर बढ़त बनाये हुए है या जीत दर्ज कर चुकी है जबकि झारखंड में पार्टी 11 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है या जीत दर्ज कर चुकी है. 

2014 में हिन्दी पट्टी के 10 राज्यों उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और राजस्थान में 225 सीटों में भाजपा को 190 सीटों पर जीत हासिल हुई थी. इन राज्यों में भाजपा की जीत का स्ट्राइक रेट 85 प्रतिशत रहा था.

मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में हाल के विधानसभा चुनाव में पराजय और उत्तर प्रदेश में सपा, बसपा गठबंधन के बाद भाजपा के लिये चुनौती बड़ी मानी जा रही थी. हालांकि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी की चुनावी संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर दावा किया कि पार्टी को 300 सीटों के साथ पूर्ण बहुमत मिलेगा. 

पश्चिम बंगाल में भी भाजपा ने शानदार प्रदर्शन किया और वह 18 सीट पर या तो आगे चल रही है या जीत दर्ज कर चुकी है.