close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अब्दुल्लाह के समर्थन में उतरीं मां तो जयाप्रदा बोलीं, 'मां को संस्कार देने चाहिए'

अब्दुल्लाह आजम के बयान पर जयाप्रदा ने कहा कि अब्दुल्लाह मेरे बेटे जैसा है. मेरी लड़ाई सिर्फ इस बात पर की आजम खान नाचने वाली बोलते है और बेटा अनारकली. 

अब्दुल्लाह के समर्थन में उतरीं मां तो जयाप्रदा बोलीं, 'मां को संस्कार देने चाहिए'
अनारकली वाले बयान आजम खान की पत्नी ने बेटे को ग्रीन सिग्नल दिया था.

रामपुर: रामपुर में चुनाव तो हो गया, लेकिन आजम खान और जयाप्रदा के बीच की जंग अब बहुत आगे बढ़ गई है. ये तकरार अभी तो थमती नजर नहीं आ रही. पहले आजम खान फिर उनके बेटे अब्दुल्लाह आजम और उसके बाद आजम खान की पत्नी और राज्यसभा सांसद तंजीन फातिमा की तरफ से बीजेपी प्रत्याशी के लिए जुबानी जंग. अब्दुल्लाह आजम के बयान पर जयाप्रदा ने कहा कि अब्दुल्लाह मेरे बेटे जैसा है. मेरी लड़ाई सिर्फ इस बात पर की आजम खान नाचने वाली बोलते है और बेटा अनारकली. उन्होंने कहा कि मां फातिमा को बेटे को संस्कार देने चाहिए. 

अब्दुल्लाह ने कुछ गलत नहीं कहा
अनारकाली वाली टिप्पणी पर फातिमा ने कहा कि अब्दुल्लाह ने कुछ गलत नहीं कहा है. उन्होंने कहा कि नाचना-गाना जयाप्रदा की आर्ट का हिस्सा है, इसमें सम्मान की हानि वाली कोई बात नहीं है.

 

जयाप्रदा ने फातिमा को दिया जवाब
वही, जयाप्रदा ने तंजीन फातिमा को जवाब देते हुए कहा कि फातिमा ये मानती हैं कि कला एक वरदान है. उन्होंने कहा कि मेरी अब्दुल्लाह से कोई दुश्मनी नहीं है, वह मेरे बेटे जैसा है. लेकिन मैं उनको अनारकाली दिखती हूं, फातिमा को उनको संस्कार देने चाहिए. 

महिला होने के नाते नहीं करना चाहिए समर्थन
जयाप्रदा ने कहा कि फातिमा इस बात को मानती है कि कला एक वरदान है और आपका बेटा इस तरह की टिप्पणी कर रहा है. एक महिला होने के नाते इसको समर्थन नहीं करना चाहिए. उन्होंने कहा वह (फातिमा) एक महिला और मां दोनों हैं. उन्होंने कहा कि मैं आपके बेटे को अनारकाली और शौहर को आम्रपाली लगती हूं. इसलिए बेटे के बोल आगे न बिगड़े इसलिए उन्हें संस्कार देने चाहिए.