झारखंडः महागठबंधन में सीटों के फॉर्मूले से नाराज RJD बना सकती है थर्ड फ्रंट

झारखंड महागठबंधन में सीट शेयरिंग का ऐलान हो गया है. लेकिन आरजेडी सीटों की संख्या से नाराज है.

झारखंडः महागठबंधन में सीटों के फॉर्मूले से नाराज RJD बना सकती है थर्ड फ्रंट
झारखंड महागठबंधन में आरजेडी सीट शेयरिंग फॉर्मूले से नाराज है.

रांचीः झारखंड महागठबंधन में सीट शेयरिंग के फॉर्मूले का ऐलान हो चुका है. जिसमें कांग्रेस को सबसे अधिक 7 सीट मिली है जबकि आरजेडी को सबसे कम 1 सीट दी गई है. हालांकि एक सीट को लेकर आरजेडी ने नाराजगी जताई थी. जिसके बाद भी सीट शेयरिंग का ऐलान किया गया. कांग्रेस ने सीट शेयरिंग के ऐलान के दौरान कहा आरजेडी के लिए एक सीट पलामू छोड़ दिया गया है. जिसके बाद आरजेडी की नाराजगी दूर नहीं हुई है. वहीं माना जा रहा है कि आरजेडी अब वामदल के साथ थर्ड फ्रंट बना सकती है.

झारखंड महागठबंधन में आरजेडी जिस तवज्जो की मांग कर रही थी उसे नहीं दिया गया है. आरजेडी लगातार दो सीट की मांग कर रही थी, लेकिन महागठबंधन में उन्हें केवल एक सीट दिया है. माना रहा है कि नाराज आरजेडी अब अहम फैसला ले सकती है.

खबरों के मुताबिक, आरजेडी अब वामदलों के साथ मिलकर झारखंड में थर्ड फ्रंट का मोर्चा भी बना सकती है. चुकि, महागठबंधन में वामदलों को भी जगह नहीं दी गई है. ऐसे में आरजेडी और वामदल मिलकर तीसरा मोर्चा बना सकते हैं. अगर ऐसा हुआ तो महागठबंधन की भी मुश्किल बढ़ सकती है. हालांकि इससे पहले आरजेडी ने कहा था कि उन्हें चतरा सीट नहीं मिला तो वह इस सीट पर फ्रैंडली चुनाव लड़ सकते हैं.

वहीं, कांग्रेस ने कहा है कि आरजेडी के लिए पलामू सीट छोड़ दिया गया है. इस सीट पर यूपीए का कोई उम्मीदवार नहीं उतारा जाएगा. वहीं, उन्होंने कहा कि महागठबंधन के सभी दल आरजेडी को मनाने में लगे हैं. लेकिन अगर वह नहीं मानें तो यह उनकी मर्जी होगी. लेकिन महागठबंधन के दल आरजेडी को लगातार मनाते रहेंगे.

बहरहाल, आरजेडी को झारखंड में कांग्रेस ने तवज्जो नहीं दिया है. कांग्रेस का कहना है कि सभी की स्थिति देख कर सीटों का बंटवारा किया गया है. प्रदेश में जिसकी जैसी स्थिति है वैसे ही सीटों का फॉर्मूला तैयार किया गया है. उन्होंने यह भी कहा कि लोकसभा में कांग्रेस झारखंड में नेतृत्व करेगी. जबकि विधानसभा चुनाव में जेएमएम को नेतृत्व दिया जाएगा.