close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अन्ना हजारे के लोकपाल आंदोलन के बाद बनी थी राजनीतिक पार्टी 'आप'

अरविंद केजरीवाल एवं अन्ना हजारे के लोकपाल आंदोलन से जुड़े बहुत से सहयोगियों द्वारा गठित भारतीय राजनीतिक दल का नाम आम आदमी पार्टी (आप) रखा गया. इस पार्टी के गठन की आधिकारिक घोषणा 26 नवंबर 2012 को किया गया था. 

अन्ना हजारे के लोकपाल आंदोलन के बाद बनी थी राजनीतिक पार्टी 'आप'
साल 2012 में आप पार्टी का गठन हुआ था.

नई दिल्लीः अरविंद केजरीवाल एवं अन्ना हजारे के लोकपाल आंदोलन से जुड़े बहुत से सहयोगियों द्वारा गठित भारतीय राजनीतिक दल का नाम आम आदमी पार्टी (आप) रखा गया. इस पार्टी के गठन की आधिकारिक घोषणा 26 नवंबर 2012 को किया गया था. 

अन्ना भ्रष्टाचार विरोधी जनलोकपाल आंदोलन को राजनीति से अलग रखना चाहते थे, जबकि अरविन्द केजरीवाल और उनके सहयोगियों की यह राय थी कि पार्टी बनाकर चुनाव लड़ा जाये. इसी उद्देश्य के तहत पार्टी पहली बार दिसम्बर 2013 में दिल्ली विधानसभा चुनाव में झाड़ू चुनाव चिन्ह के साथ चुनावी मैदान में उतरी.

28 सीटों के साथ आप ने कांग्रेस के साथ मिलकर दिल्ली में सरकार बनाने में सफल रही. आप पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने 28 दिसंबर 2013 में दिल्ली के 7वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण की. लेकिन जन लोकपाल विधेयक पर कांग्रेस के समर्थन नहीं मिलने से केजरीवाल ने त्यागपत्र दे दिया. 

इसके बाद 2015 में फिर से चुनाव हुआ जिसके बाद आप पार्टी ने दिल्ली के 67 सीट जीत कर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई. इसके बाद पार्टी ने लोकसभा चुनाव और अन्य राज्यों में भी चुनाव मैदान में उतरी.