ज्योतिरादित्य सिंधिया : 2002 में पहली बार एमपी के गुना सीट से बने थे सांसद

 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी है. 

ज्योतिरादित्य सिंधिया : 2002 में पहली बार एमपी के गुना सीट से बने थे सांसद
ज्योतिरादित्य सिंधिया (कांग्रेस नेता)

ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्यप्रदेश के शाही सिंधिया परिवार से ताल्लुक रखते हैं. उनका जन्म एक जनवरी 1971 के मुम्बई में हुआ था. वह 2002 से लगातार मध्यप्रदेश के गुना लोकसभा सीट से सांसद बनते आ रहे हैं. कांग्रेस की नेतृत्व वाली यूपीए सरकार में ज्योतिरादित्य ने उर्जा मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) की जिम्मेदारी संभाली. 

संधिया फिलहाल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हैं. 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी है. ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के प्रमुख भी हैं.

उनके पिता माधव राव सिंधिया भी कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में शुमार थे. पिता की मौत के बाद, 17 सितंबर 2001 को वह कांग्रेस पार्टी में औपचारिक रूप से शामिल हुए थे. उस समय उनकी उम्र तकरीबन 30 साल की थी.

ज्योतिरादित्य ने देहरादून के प्रतिष्ठित दून स्कूल से अपनी आरंभिक पढ़ाई पूरी की. इसके बाद वह स्नातक के लिए हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से चले गए. उन्होंने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए की पढ़ाई पूरी की.