नवादा सीट जाने से नाराज चल रहे गिरिराज, चिराग पासवान बोले, 'करेंगे बात, निकालेंगे हल'

एनडीए में शामिल तीनों दलों में आपसी सहमति बनने के बाद रविवार को सीट बंटवारे की घोषणा कर दी गई थी.

नवादा सीट जाने से नाराज चल रहे गिरिराज, चिराग पासवान बोले, 'करेंगे बात, निकालेंगे हल'
फोटो सौजन्य: ANI

पटना: बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में सीट बंटवारे में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की नवादा लोकसभा सीट लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के खाते में चले जाने पर वह चिंतित नजर आ रहे हैं. वहीं, एलजेपी के नेता चिराग पासवान से इस बाबत सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि गिरिराज सिंह के साथ हमारे अच्छे संबंध हैं. हमें मीडिया के जरिये जानकारी मिली है कि वह छोड़े से नाराज हैं. उन्होंने कहा कि मैं गिरिराज सिंह को फोन कर इस बारे में पूछूंगा. अगर ऐसा सच में है तो, हम इस मामले को सुलझाने की कोशिश करेंगे.  

लोकसभा चुनाव को लेकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के घटक दलों के बीच सीटों का बंटवारा होने के बाद बीजेपी के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह की नवादा सीट एलजेपी के खाते में चली गई है. पार्टी के इस निर्णय पर गिरिराज सिंह ने नाराजगी भी व्यक्त की है. उनका कहना है कि नवादा की जनता से एक जुड़ाव हो गया था. उन्होंने यहां पांच साल में अच्छा काम किया. गिरिराज सिंह ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार के सहयोग से हमने नवादा में काम किया. हमारी लोकप्रियता होती तो हमें मजबूर किया जाता. कार्यकर्ता था, कार्यकर्ता हूं और कार्यकर्ता ही बना रहूंगा.

गिरिराज सिंह ने कहा कि "'मुझे नहीं पता कि मेरे साथ ये क्यों हुआ. मैंने अंतिम समय तक कहा था कि मैं चुनाव लड़ूंगा, तो नवादा से लडूंगा." केंद्रीय मंत्री को मलाल है कि नवादा में उन्होंने जो 'रूरल मॉडल' खड़ा किया, उसका फायदा वहां के लोगों को मिलेगा, मगर उन्हें नहीं मिल पाएगा. मोदी विरोधियों को पाकिस्तान चले जाने की नसीहत देने, सोनिया गांधी को 'पूतना' और राहुल गांधी को 'विदेशी तोता' कहकर सुर्खियां बटोरनेवाले गिरिराज सिंह ने नवादा का टिकट कट जाने के बाद पहली बार पत्रकारों के सामने आए और कहा, "मुझे नहीं पता कि मेरा टिकट नवादा से क्यों काटा गया और यह सीट एलजेपी को क्यों दी गई." 

एनडीए में शामिल तीनों दलों में आपसी सहमति बनने के बाद रविवार को सीट बंटवारे की घोषणा कर दी गई थी, जिसमें गिरिराज सिंह की मौजूदा लोकसभा सीट (नवादा) लोजपा के खाते में चली गई है. सूत्रों का कहना है कि गिरिराज को बेगूसराय लोकसभा सीट से चुनाव मैदान से उतारा जा सकता है. बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं. एनडीए में शामिल बीजेपी और जेडीयू 17-17 जबकि एलजेपी 6 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी.

(इनपुट आईएएनएस से)