लोकसभा चुनाव 2019 : शिवहर सीट पर क्या BJP लगा पाएगी जीत की हैट्रिक?

इस सीट पर कुल सात बार कांग्रेस का कब्जा रहा है. 2009 और 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने रमा देवी को उम्मीदवार बनाया और वह जीतने में सफल रही. 

लोकसभा चुनाव 2019 : शिवहर सीट पर क्या BJP लगा पाएगी जीत की हैट्रिक?
बाहुबली आनंद मोहन ने भी यहां से दो बार चुनाव जीता. (फाइल फोटो)

शिवहर : देश में लोकसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा भले ही नहीं हुई हो, लेकिन बिगुल फूंका जा चुका है. आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू है. बिहार में कुल 40 लोकसभा सीटों पर चुनाव होने हैं. इन्हीं में से एक है शिवहर लोकसभा सीट. 2014 में यहां भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) प्रत्याशी रमा दोवी को लगभग एक लाख 40 हजार मतों से जीत मिली थी. इस चुनाव में उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) उम्मीदवार अनवारुल हक को हराया था.

शिवहर पहले मुजफ्फरपुर और सीतामढ़ी जिला का हिस्सा रहा है. इस इलाके में बाढ़ और रोजगार के कारण पलायन एक बड़ी समस्या है. इस सीट से स्वतंत्रता सेनानी और सहकारी आंदोलन के जनक माने जाने वाले जुगल किशोर सिन्हा जैसे लोग भी सांसद बने हैं. वहीं, बाहुबली आनंद मोहन ने भी यहां से दो बार चुनाव जीता. इस सीट पर कुल सात बार कांग्रेस का कब्जा रहा है. 2009 और 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने रमा देवी को उम्मीदवार बनाया और वह जीतने में सफल रही. 

1485801 मतों वाले शिवहर लोकसभा सीट पर 2014 के चुनाव में 842894 लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इस चुनाव में बीएसपी प्रत्याशी अंगेश कुमार 26446 और अनवारुल हक 236267 मत पाने में सफल रहे. वहीं, जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) उम्मीदवार शाहिद खान को महज 79108 मतों से संतोष करना पड़ा. बीजेपी प्रत्याशी रमा देवी 372506 मतों के साथ सांसद बनने में सफल रही.

2014 के चुनाव में शिवहर लोकसभा सीट से कुल 15 उमीमदवार अपना भाग्य आजमा रहे थे. इस चुनाव में 11670 लोगों ने ईवीएम में नोटा का बटन दबाया. इस सीट पर 1998 से 2004 तक हुए तीन लोकसभा चुनावों में आरजेडी ने कब्जा जमाया, इनमें से दो बार बाहुबली नेता आनंद मोहन ने कब्जा जमाया. हाल ही में उनकी पत्नी लवली आनंद ने कांग्रेस का दामन थामा. कयास लगाए जा रहे हैं कि कांग्रेस उन्हें शिवहर से उम्मीदवार बना सकती है.