गुजरात सरकार के मंत्री बोले- मुझे आधे लोगों ने वोट दिया इसलिए आधे गांव में पानी दिया

स्थानीय लोगों ने मंत्री कुंवरजी बावलिया से कहा कि गांव में पानी ने आता है. इससे यहां की महिलाओं को काफी दिक्कत होती है. इस पर मंत्री कुंवरजी ने तपाक से कहा कि क्या आप लोगों ने मुझे वोट दिया था. 

गुजरात सरकार के मंत्री बोले- मुझे आधे लोगों ने वोट दिया इसलिए आधे गांव में पानी दिया
गुजरात सरकार में कैबिनेट मंत्री कुंवरजी बावलिया का वोटरों के साथ शर्मनाक बर्ताव.

राजकोट: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां अपने-अपने प्रचार मे जुटी हैं. एसे मे गुजरात सरकार में कैबिनेट मंत्री कुंवरजी बावलिया राजकोट-जसदण के कनेसरा गांव में बीजेपी प्रत्याशी के लिए वोट मांगने पहुंचे. यहां के स्थानीय लोगों ने सवाल पूछकर नेताओं को वहां से भागने पर मजबूर कर दिया. 

स्थानीय लोगों ने मंत्री कुंवरजी बावलिया से कहा कि गांव में पानी ने आता है. इससे यहां की महिलाओं को काफी दिक्कत होती है. इस पर मंत्री कुंवरजी ने तपाक से कहा कि क्या आप लोगों ने मुझे वोट दिया था. मंत्री का यह बयान कैमरे में कैद हो गया है. यह वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियो वायरल होने पर मंत्री ने सफाई में कहा है कि यह जानबूझकर उन्हें फंसाने के लिए वीडियो बनाया गया है. उन्होंने कहा कि सवाल 'अशिक्षित महिलाओं' ने किए थे और ये स्थानीय राजनीति से प्रेरित थे. 

मालूम हो कि बावलिया ने पिछले साल कांग्रेस का साथ छोड़कर बीजेपी ज्वाइन कर ली थी और उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया था. उन्होंने गुजरात की जसदण विधानसभा सीट पर उपचुनाव में जीत हासिल की थी.

बताया जा रहा है कि कनसारा गांव में बीजेपी के लिए प्रचार कर रहे मंत्री को ग्रामीण महिलाओं के गुस्से का सामना करना पड़ा. महिलाएं शिकायत कर रही थीं कि आधे गांव में पानी की सप्लाई नहीं हो पा रही है. इस पर मंत्री ने कहा कि पिछली बार केवल 55 फीसदी गांववालों ने ही मुझे वोट दिया था. मंत्री ने कहा, 'मेरे पास पूरा जल संशाधन मंत्रालय है, मैं सरकार में हूं. अगर जरूरत पड़ी तो मैं गांव में पानी की सप्लाई के लिए करोड़ों रुपये मंजूर कर सकता हूं. जब इस बार मैंने चुनाव लड़ा तो मुझे केवल 55 फीसदी वोट मिले. आप सब लोगों ने मुझे वोट क्यों नहीं दिया.'

मंत्री का जवाब सुनकर महिलाएं भड़क गईं, जिसके बाद वहां शोर-शराबा शुरू हो गया. आखिरकार मंत्री को वहां से जाना पड़ा. इस पूरे मसले को लपकते हुए कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं कि बीजेपी के सबका साथ सबका विकास का वादा झूठा है. वह वोटर देखकर काम करती है.