लोकसभा चुनाव 2019: इस राजा के नाम पर है 'सहारनपुर', जानें कैसा है यहां का चुनावी गणित

सहारनपुर की काष्ठ कला और देवबन्द दारूल उलूम विश्वपटल पर सहारनपुर को अलग पहचान दिलाते हैं. 

लोकसभा चुनाव 2019: इस राजा के नाम पर है 'सहारनपुर', जानें कैसा है यहां का चुनावी गणित
साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में इस सीट पर बीजेपी ने कमल खिलाया था.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के 80 लोकसभा क्षेत्रों में से एक सहारनपुर है, जिसका गठन 1952 में किया गया था. इस लोकसभा सीट में 5 विधानसभा क्षेत्र शामिल है. सहारनपुर यूपी की नंबर एक लोकसभा सीट है. इस सीट के अंतर्गत बेहट, सहारनपुर नगर, सहारनपुर देहात, देवबंद और रामपुर मनिहारान को मिलाकर पांच विधानसभा सीटें आती हैं. साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में इस सीट पर बीजेपी ने कमल खिलाया था. कांग्रेस दूसरे, बसपा तीसरे और सपा चौथे नंबर पर रही थी.

राजा के नाम पर मिला नाम
सहारनपुर की स्थापना 1340 के आस-पास हुई और इसका नाम एक राजा सहारन पीर के नाम पर पड़ा. सहारनपुर की काष्ठ कला और देवबन्द दारूल उलूम विश्वपटल पर सहारनपुर को अलग पहचान दिलाते हैं. सहारनपुर में प्राचीन शाकुम्भरी देवी सिद्धपीठ मंदिर, देवबंद का मां बाला सुंदरी मंदिर, नगर में भूतेश्वर महादेव मंदिर, कंपनी बाग आदि प्रसिद्ध स्थल हैं. राष्ट्रीय राजमार्ग, NH-74 शहर से होकर गुजरता है. सहारनपुर बासमती चावल, आम और चीनी मिलों के लिए प्रसिद्ध है.

क्या है राजनीतिक इतिहास
उत्तर प्रदेश की सहारनपुर सीट पर मौजूदा सांसद बीजेपी के राघव लखनपाल शर्मा हैं. उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार इमरान मसूद को 65090 वोटों से हराया था. 1957 में यहां पहली बार लोकसभा चुनाव हुए और कांग्रेस के सुंदर लाल यहां के सांसद बने. 1957 से 1971 तक यहां कांग्रेस का ही राज रहा. 1977 में भारतीय लोक दल से रशीद मसूद यहां से सांसद चुने गए. 1996 में यहां बीजेपी का कमल खिला और नकली सिंह यहां से सांसद चुने गए. 1998 में फिर नकली सिंह ने लोगों के दिलों का राज किया और सांसद चुने गए. 1999 में हुए चुनाव में यहां बीएसपी का खाता खुला और मंसूर अली खान यहां से सांसद चुने गए. 2004 में रशीद मसूद ने सपा से चुनाव लड़ा और सांसद चुने गए. 2009 में रशीद मसूद को बीएसपी के राणा जगदीश सिंह को ने हराया और सांसद चुने गए. 

2014 में क्या था समीकरण
56 प्रतिशत आबादी हिंदू और 41 प्रतिशत आबादी मुस्लिम है. 2014 लोकसभा चुनाव में 16,08,833 लोगों ने वोट दिया मतदान में 54 प्रतिशत पुरुष और 41 प्रतिशत महिलाओं की भागेदारी बीजेपी ने कांग्रेस को 5 प्रतिशत से ज्यादा अंतर से मात दी. सपा-बसपा गठबंधन के बाद इस सीट पर मुकाबला दिलचस्प हो गया है. 

कौन है लखनपाल शर्मा
सहारनपुर से मौजूदा सांसद लखनपाल शर्मा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ नाथ के भतीजे हैं. उन्होंने देहरादून के दून कॉलेज से अपनी प्रारंभिक शिक्षा ली. लोकसभा में लखनपाल शर्मा की उपस्थिति 80 प्रतिशत रही और इस दौरान उन्होंने लोकसभा की 57 बहसों में हिस्सा लिया. लोकसभा में इन्होंने 5 प्राइवेट बिल पेश किए. सांसद निधि की बात करें तो लखनपाल ने अपनी सांसद निधि का 90 प्रतिशत भाग विकास कार्यों पर लगाया है.