लोकसभा चुनाव 2019: दिल्ली में कांग्रेस और आप का होगा गठबंधन! ये नेता बनेंगे बिचौलिया

 सूत्रों के अनुसार, राकांपा नेता शरद पवार ने कांग्रेस और आप के बीच बातचीत की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की मंगलवार को पैरवी की. 

लोकसभा चुनाव 2019: दिल्ली में कांग्रेस और आप का होगा गठबंधन! ये नेता बनेंगे बिचौलिया
फाइल फोटो

नई दिल्ली : दिल्ली में लोकसभा चुनाव (lok sabha elections 2019) के लिये आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन के मुद्दे पर जारी गतिरोध को दूर करने की पहल एक बार फिर शुरु हुयी है. सूत्रों के अनुसार, राकांपा नेता शरद पवार ने कांग्रेस और आप के बीच बातचीत की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की मंगलवार को पैरवी की. समझा जाता है कि पवार से कांग्रेस नेताओं के अलावा आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह की भी मुलाकात हुई है. 

सिंह ने पवार से मुलाकात की पुष्टि करते हुये सिर्फ इतना ही कहा कि उनकी कई मुद्दों पर चर्चा हुयी है. फिलहाल वह इसका खुलासा नहीं कर सकते हैं. 

उन्होंने हालांकि यह जरूर कहा, ‘‘पहले भी हमारी बैठक हुयी हैं. इसमें गठबंधन होने की स्थिति में और गठबंधन नहीं होने की स्थिति में देश के जो मुद्दे हैं उन पर हम कैसे लामबंद और एकजुट हो सकते हैं, इन विषयों पर चर्चा हुयी.’’ 

उन्होंने भविष्य में देश में चुनाव नहीं होने संबंधी भाजपा नेताओं के बयानों का हवाला देते हुये कहा कि भाजपा और उनकी सरकारें संविधान और संघीय ढांचे के लिये खतरा बन गयी हैं. इसलिये विपक्षी दलों को पार्टी हित से ऊपर उठकर देश हित में एकजुट होना चाहिये. 

उल्लेखनीय है कि आप की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय ने सोमवार को कांग्रेस नेताओं के नकारात्मक रवैये का हवाला देते हुये भविष्य में गठबंधन की संभावनाओं को खारिज कर दिया था. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित गठबंधन का शुरु से विरोध कर रही हैं. हालांकि पहले गठबंधन का विरोध कर रहे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन सहित पार्टी के अन्य नेता अब गठबंधन की हिमायत कर रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन के लिये पवार द्वारा दोनों पक्षों के साथ बातचीत किये जाने की सुगबुगाहट के बीच दीक्षित ने कांग्रेस के तीनों कार्यकारी अध्यक्षों की बैठक बुलायी है.