close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

छत्तीसगढ़ लोकसभा चुनाव परिणाम : BJP को 9 और कांग्रेस को 2 सीटों पर मिली जीत

गुरुवार को राज्य के जिन उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा उनमें कांग्रेस के तीन मौजूदा विधायक, विधानसभा अध्यक्ष की पत्नी और राज्य में भारतीय जनता पार्टी के उपाध्यक्ष शामिल हैं.

छत्तीसगढ़ लोकसभा चुनाव परिणाम : BJP को 9 और कांग्रेस को 2 सीटों पर मिली जीत
देश में अंतिम चरण के मतदान के बाद कई एग्जिट पोल ने छत्तीसगढ़ में भाजपा को कम से कम दो से तीन सीट के नुकसान का अनुमान जताया है.

रायपुर: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के नतीजे 2019 (Lok Sabha Election Results 2019) आ चुके हैं. देश के सबसे बड़े और 84 दिनों तक चले सियासी 'महाभारत' के शुरुआती रुझानों मेंं BJP ने 8 और कांग्रेस ने 3 सीटों पर बढ़त बनाई हुई थी. वहीं अब परिणाम सामने आने के बाद स्थिति साफ हो गई है. राज्य में बीजेपी ने 9 और कांग्रेस ने 2 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की है.

रायपुर लोकसभा सीट से बीजेपी के सुनील सोनी 8 हजार वोटों से आगे चल रहे हैं.

कोरबा लोकसभा सीट पर कांग्रेस की ज्योत्सना चरणदास महंत आगे हैं. दुर्ग लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी विजय बघेल आगे चल रहे हैं. रायपुर लोकसभा सीट से कांग्रेस के प्रमोद दुबे आगे चल रहे हैं. जांजागीर-चांपा सीट से बीजेपी के गुहारा अजगले आगे चल रहे हैं.

बिलासपुर लोकसभा सीट पर मतगणना में बीजेपी के अरुण साव कांग्रेस के अटल श्रीवास्तव से 712 मतों से आगे चल रहे हैं.

इन सबके बीच छत्तीसगढ़ के 27 जिला मुख्यालयों में कड़ी सुरक्षा के बीच गुरुवार को राज्य की 11 लोकसभा सीटों के लिए वोटों की गिनती शुरु हो गई है. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 11 में से 10 सीटों पर कब्जा किया था. वहीं, कांग्रेस को एक सीट से संतोष करना पड़ा था.

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में छत्तीसगढ़ में बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधा राजनीतिक द्वंद है. बता दें कि कुछ माह पहले छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव में 15 साल के वनवास के बाद कांग्रेस की सरकार बनी. कांग्रेस ने सबसे ज्यादा 68 सीटों पर जीत दर्ज की. वहीं, 15 सालों तक सत्ता संभालने वाली भाजपा 15 सीटों पर ही सिमट गई थी. मायावती और जोगी के गठबंधन को सात सीटें मिलीं थीं. छत्तीसगढ़ में कुल 90 विधानसभा सीटें हैं.

 

वहीं, 2014 के आम चुनाव में छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों में बीजेपी ने 10 सीटों पर जीत हासिल की थी. वहीं, कांग्रेस को केवल एक सीट पर जीत मिली थी.

राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि राज्य के सभी 27 जिला मुख्यालयों में गुरुवार को 11 लोकसभा सीटों के लिए वोटों की गिनती होगी. राज्य में मतगणना के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई है तथा इस कार्य में लगभग 12 हजार अधिकारियों और कर्मचारियों को तैनात किया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि सुबह आठ बजे मतगणना शुरू होगी. सबसे पहले डाक मतपत्रों की गिनती की जाएगी तथा बाद में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन के मतों की गिनती होगी. उन्होंने बताया कि मतगणना के लिए सभी स्थानों पर तथा विशेष कर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. राज्य में 11 लोकसभा सीटों के लिए 11 अप्रैल, 18 अप्रैल और 23 अप्रैल को मतदान हुआ था. जिसमें राज्य के 71.48 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. इस दौरान राज्य के मतदाताओं ने 166 उम्मीदवारों के भाग्य को इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन में बंद कर दिया था.

 

 

गुरुवार को राज्य के जिन उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा उनमें कांग्रेस के तीन मौजूदा विधायक, विधानसभा अध्यक्ष की पत्नी और राज्य में भारतीय जनता पार्टी के उपाध्यक्ष शामिल हैं. छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों में से चार अनुसूचित जनजाति के लिए तथा एक अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है.

देश में अंतिम चरण के मतदान के बाद कई एग्जिट पोल ने छत्तीसगढ़ में भाजपा को कम से कम दो से तीन सीट के नुकसान का अनुमान जताया है. वर्ष 2004 के बाद से हुए तीनों लोकसभा चुनावों में भाजपा ने राज्य की 11 में से 10 सीटें जीती थीं. एग्जिट पोल के अनुसार भाजपा को इस लोकसभा चुनाव में राज्य में सात से आठ सीटों पर जीत मिलने की संभावना है, जबकि कांग्रेस को तीन से चार सीटें मिल सकती हैं. एग्जिट पोल के अनुमानों को दरकिनार करते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता शैलेश नितिन त्रिवेदी कहते हैं कि एक्जिट पोल सिर्फ अनुमानों पर आधारित थे जो 23 मई को नतीजे आने के बाद विफल हो जाएंगे.

त्रिवेदी ने कहा कि राज्य विधानसभा चुनाव के दौरान एग्जिट पोल की भविष्यवाणियां गलत साबित हुई थी. इस बार लोकसभा में भी यही होगा. कांग्रेस राज्य की सभी 11 सीटों पर जीत हासिल करेगी. उन्होंने बताया कि कांग्रेस ने सभी मतगणना केंद्रों में कार्यकर्ताओं और विधि प्रकोष्ठ के सदस्यों को तैनात करने का फैसला किया है जिससे किसी भी प्रकार की अनुचित कार्रवाई पर नजर रखी जा सके. इधर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने कहा कि एग्जिट पोल सर्वे में राजग के लिए जीत की भविष्यवाणी की गई है. उन्हें विश्वास है परिणाम इससे भी बेहतर आएंगे.

उन्होंने कहा है कि मतदाताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा किए गए कार्यों के लिए मतदान किया है. छत्तीसगढ़ में भाजपा सभी 11 सीटों पर जीत हासिल करेगी. छत्तीसगढ राज्य निर्माण के बाद से लेकर वर्ष 2004, 2009 और 2014 में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने 11 में से 10 सीटों पर जीत हासिल की थी. वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की बड़ी जीत के बाद राज्य में परिस्थियां बदली हुई है. विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने राज्य की 90 में से 68 सीटों पर जीत हासिल की थी जबकि भाजपा को 15 सीटों से ही संतोष करना पड़ा था.