अनारकली वाले बयान आजम खान की पत्नी ने बेटे को दिया ग्रीन सिग्नल

तंज़ीम फातिमा ने कहा डीएम ने अपने प्रेस कांफ्रेंस में कहा बंदूकें साफ करा ली गई हैं, कहीं गड़बड़ी हुई तो निशाना चुकेगा नहीं. डीएम साहब किसे धमका रहे हैं.

अनारकली वाले बयान आजम खान की पत्नी ने बेटे को दिया ग्रीन सिग्नल
राज्यसभा सांसद और समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी आजम खान

रामपुर: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) में वोट डालने पहुंची राज्यसभा सांसद और समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी आजम खान की पत्नी तंजीन फातिमा ने बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा पर किए गए कमेंट का बचाव किया. तंजीन फातिमा ने कहा कि शब्दों की बातें जयाप्रदा और अमर सिंह और प्रशासन की तरफ से हो रही हैं, जिला प्रशासन पूरी तरह बीजेपी के साथ है. जिस दिन से डीएम आये हैं रोज समाजवादियों का उत्पीड़न हो रहा है.

तंज़ीम फातिमा ने कहा डीएम ने अपने प्रेस कांफ्रेंस में कहा बंदूकें साफ करा ली गई हैं, कहीं गड़बड़ी हुई तो निशाना चुकेगा नहीं. डीएम साहब किसे धमका रहे हैं.

बेटे अब्दुल्लाह के अनारकली वाले बयान पर राज्यसभा सांसद तंजीन ने कहा कि यह कोई गलत बयान नहीं है. नाचना-गाना (जया प्रदा) कला है. आज़म खान और अब्दुल्लाह ने कोई ग़लत बयान नहीं दिया है. बयान को तोड़ मोड़ कर पेश किया गया है.

आजम के बेटे ने जयाप्रदा को कहा 'अनारकली'
रामपुर में रविवार की शाम को बीजेपी का चुनावी अभियान खत्म होने के बाद बीजेपी प्रत्याशी जयाप्रदा पर आजम खान कैंप ने एक और हमला बोल दिया है. आजम खान के बेटे, अब्दुल्लाह अजान खान ने पान दरेबा में बैठक के बाद कहा, "अली भी हमारे, बजरंग बली भी हमारे. हमें अली भी चाहिए, बजरंग बली भी चाहिए, लेकिन अनारकली नहीं चाहिए."

यहां अनारकली जयाप्रदा के संदर्भ में कहा गया था, क्योंकि फिल्मों में उनके नृत्य कौशल के लिए वह प्रसिद्ध हैं. वहीं जयाप्रदा ने निर्वाचन आयोग से बिना देर किए इस अपमानजनक ताने पर संज्ञान लेने के लिए कहा.

जयाप्रदा-आजम में जुबानी जंग
आजम खान (सपा) और जयाप्रदा (भाजपा) में पहले भी कड़ी तकरार हो चुकी है, जिसके बाद दोनों नेता एक दूसरे पर वार करने से नहीं कतराते हैं.

इसके अलावा जयाप्रदा पर भी एक मामला दर्ज किया गया है. आजम खान ने जिस तरह उन पर टिप्पणी किया था, उसे याद करते हुए जया ने रामपुर में सभा के दौरान कहा था, "बसपा प्रमुख यह कल्पना कर सकती हैं कि वह अगर इनके साथ आती हैं तो वह उनको ये अपने एक्स-रे वाले नजरिए से कैसे देखेंगे."

आजम पर लग चुका है प्रतिबंध
इसके पहले निर्वाचन आयोग ने अभिनेत्री पर अभद्र टिप्पणी करने पर आजम खान पर 72 घंटे का प्रतिबंध लगाया था, उस दौरान वह चुनाव अभियान में भाग नहीं ले पाए थे.

निर्वाचन आयोग ने मायावती और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर भी उनके विवादास्पद भाषण के लिए पाबंदी लगाई थी. ईसी ने अपने आदेश में कहा था, "दोनों नेताओं के भाषण अत्यधिक उत्तेजक थे, जो विभिन्न समुदायों के बीच आपसी घृणा को बढाने के लिए काफी थे.'