close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019: मतदान में बांदा रहा अव्‍वल, वोटिंग में हुआ 11 फीसदी का इजाफा

बांदा जनपद के 7 पोलिंग स्‍टेशन ऐसे भी हैं, जहां पर 90 फीसदी से अधिक मतदान हुआ है. इन पोलिंग स्‍टेशन में जिलाधिकारी हीरा लाल द्वारा गोद लिया गया गांव पिपरी भी शामिल है.

लोकसभा चुनाव 2019: मतदान में बांदा रहा अव्‍वल, वोटिंग में हुआ 11 फीसदी का इजाफा
बांदा जिले के तिंदवारी और बबेरू तहसील क्षेत्र में हुई है सबसे अधिक वोटिंग.

नई दिल्‍ली: लोकसभा चुनाव 2019 के तहत सोमवार को हुए पांचवें चरण के मतदान में उत्‍तर प्रदेश की बांदा जिला ने एक नया इतिहास रचा है. दरअसल, सोमवार हुए मतदान में बांदा जिला के अंतर्गत कुल 63.29 फीसदी मतदान हुआ. यह मत प्रतिशत बीते लोकसभा चुनाव 2014 से करीब 11 फीसदी अधिक है. लोकसभा चुनाव 2019 के अतंर्गत उत्‍तर प्रदेश के किसी भी जिले के मतदान प्रतिशत में इतना बढ़ा उछाल नहीं देखा गया है. उल्‍लेखनीय है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बांदा जनपद के अंतर्गत आने वाले करीब 52 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. वहीं लोकसभा चुनाव 2019 में बांदा जिला का मतदान प्रतिशत 63.29 तक पहुंच गया है. इसके अलावा, बांदा जिले के अंतर्गत आने वाले सात पोलिंग बूथों में इस बार 90 फीसदी से अधिक मतदान हुआ है. दुरेली का मजरा काशीपुर ऐसे गांव है, जहां पर मतदान 96.06 प्रतिशत रहा है. 

नरैनी में सर्वाधिक मतदान, तिंदवारी में 12% बढ़ा मतदान
बांदा जिले के अंतर्गत कुल विधानसभा क्षेत्र आते हैं. जिसमें बांदा, बबेरू, नरैनी और तिंदवारी शामिल हैं. लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सोमवार को हुई वोटिंग के बाद मतदान प्रतिशत में सर्वाधिक 12.21 फीसदी का उछाल तिंदवारी विधानसभा क्षेत्र में दर्ज किया गया है. तिंदवारी विधानसभा क्षेत्र में इस बार करीब 64.38 प्रतिशत मतदान हुआ है. जबकि लोकसभा चुनाव 2014 में यहां 52.17 फीसदी मतदान हुआ था. मतदान प्रतिशत में बढ़ोत्‍तरी के मामले में नरैनी विधानसभा क्षेत्र दूसरे पायदान पर है. यहां इस बार 65.23 फीसदी मतदान हुआ है. यह मतदान प्रतिशत 2014 के लोकसभा चुनाव से करीब 10.55 फीसदी अधिक है. 2014 में यहां 54.68 फीसदी मतदान हुआ था. इसके अलावा, बबेरू विधानसभा क्षेत्र में 08.94  और बांदा विधानसभा क्षेत्र में करीब 09.71 फीसदी का इजाफा इस बार के मतदान में हुआ है. 

यह भी पढ़ें: चुनावी हलचल: यूपी के एक जिलाधिकारी ने लिया प्रण, कराऊंगा 90 फीसदी से अधिक मतदान

बांदा जिले को इन सात बूथों में हुआ 90 फीसदी से अधिक मतदान
90 से अधिक मतदान के लक्ष्‍य को पूरा करने में बांदा जिले के सात पोलिंग बूथ पूरी तरह से सफल रहे. इन मतदान केंद्रों में कलेक्‍टरपुरवा, दुरेली का मजरा काशीपुर, महुरछा, कोलावल रायपुर, पिपरी, किलेदार का पुरवा और कहला मजरा का हेटेटीपुरवा शामिल है. जिला प्रशासन के अनुसार,  कलेक्‍टरपुरवा में 90.18 प्रतिशत, दुरेली के मजरा काशीपुर में 96.06 प्रतिशत, महुरछा में 91 प्रतिशत, कोलावल रायपुर में 93.06 प्रतिशत, पिपरी में 90.37 प्रतिशत, किलेदार का पुरवा में 91.36 प्रतिशत और कहला मजरा का हेटेटीपुरवा में 94.25 प्रतिशत मतदान हुआ है.  

यह भी पढ़ें: चुनावी हलचल: यूपी की इस संसदीय सीट पर मतदान के लिए लिया जा रहा है जादूगरों का सहारा


मतदाताओं के साथ बांदा के जिलाधिकारी हीरा लाल. 

बांदा के जिलाधिकारी हीरालाल को जाता है श्रेय
मतदान में सर्वोच्‍च वृद्धि का श्रेय सीधे तौर पर बांदा के जिलाधिकारी हीरालाल को जाता है. दरअसल, लोकसभा चुनाव 2019 के घोषणा के साथ बांदा के जिलाधिकारी हीरालाल ने 90फीसदी से अधिक मतदान कराने का लक्ष्‍य रखा था. इस लक्ष्‍य को पूरा करने के लिए लगातार चुनाव कर्मी गांव-गांव जाकर लोगों को मतदान के प्रति जागरूक कर रहे थे. चुनाव कर्मियों का यह अभियान डोर-टू-डोर चलाया था. इसके अलावा, उन लोगों को मतदान के लिए बांदा बुलाया गया था, जो रोजगार के सिलसिले में जनपद से बाहर थे. मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए जिलाधिकारी हीरालाल की कवायद यहीं नहीं रुकी. उन्‍होंने मतदान के लिए लोगों को मतदान केंद्र तक लाने के लिए लोक कलाओं का सहारा लिया. इन सभी प्रयासों के परिणाम स्‍वरूप इस बार बांदा जनपथ मतदान प्रतिशत में सर्वोच्‍च वृद्धि का रिकार्ड दर्ज पाया है. 

यह भी पढ़ें: चुनावी हलचल: जब लुप्‍त होते बुंदेली लोकनृत्‍य 'दीवारी' को मतदान से मिला पुनर्जीवन...

बांदा जनपद की किस विधानसभा में बढ़ा कितना मतदान 

विधानसभा क्षेत्र लोकसभा चुनाव 2019 लोकसभा चुनाव 2014 मतदान प्रतिशत में बढ़ोत्‍तरी 
तिंदवारी 64.38 52.17 12.21
बबेरू 61.11 52.17 08.94
नरैनी 65.23 54.68 10.55
बांदा 61.84 52.13 09.71