close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव 2019: करीब डेढ़ साल बाद ‘हिल्स’ लौटेंगे बिमल गुरुंग

चुनाव विशलेषकों के अनुसार गुरुंग के ‘हिल्स’ आने से दार्जिलिंग लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव के रंग बदल सकते हैं और भाजपा उम्मीदवार राजू सिंह बिस्ता के पक्ष में वोट जा सकते हैं.

लोकसभा चुनाव 2019: करीब डेढ़ साल बाद ‘हिल्स’ लौटेंगे बिमल गुरुंग
गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के नेता बिमल गुरुंग की फाइल फोटो

कोलकाता: गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के नेता बिमल गुरुंग करीब डेढ़ साल बाद गुरुवार शाम ‘हिल्स’ वापस लौट सकते हैं. उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के नेताओं रोशन गिरि और बिमल गुरुंग को लोकसभा चुनाव में हिस्सा लेने के लिए पश्चिम बंगाल में अपने खिलाफ लंबित मामलों में अग्रिम जमानत के लिए कलकत्ता उच्च न्यायालय में चार दिन के भीतर याचिका दायर करने का आदेश दिया था, जिसके एक दिन बाद उनके वापस लौटने की खबर आई है.

गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के गुरुंग धड़े के कार्यकारी अध्यक्ष लोकसांग लामा ने कहा कि मोर्चा नेता सीधे ‘हिल्स’ पहुंचेंगें, जिनके दोपहर करीब डेढ़ बजे बागडोगरा हवाईअड्डे पहुंचने की संभावना है. चुनाव विशलेषकों के अनुसार गुरुंग के ‘हिल्स’ आने से दार्जिलिंग लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव के रंग बदल सकते हैं और भाजपा उम्मीदवार राजू सिंह बिस्ता के पक्ष में वोट जा सकते हैं.

गुरुंग और गोरखा जनमुक्ति मोर्चा दोनों ने अपना समर्थन बिस्ता को दिया है जबकि बिनय तमांग के नेतृत्व वाले गुट ने तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार अमर सिंह राय का समर्थन करने का निर्णय लिया है. बिनय तमांग के नेतृत्व वाले गुट ने गुरुंग और उनके वफादारों को निष्कासित कर खुद को सत्ताधारी तृणमूल की मदद से ‘हिल्स’ का रक्षक नेता घोषित कर दिया था.

 

गुरुंग ने कहा कि वह ‘हिल्स’ लौटने को काफी इच्छुक हैं. उन्होंने कहा कि मैं दार्जिलिंग लौटने को उत्साहित हूं. एक बार वहां पहुंचने के बाद मैं भाजपा उम्मीदवार बिस्ता की जीत सुनिश्चित करने का भरसक प्रयास करूंगा. ‘हिल्स’ के लोगों ने तमांग और राय जैसे गद्दारों को नाकार दिया है. 

उन्होंने कहा कि आगामी चुनाव पश्चिम बंगाल सरकार की ‘‘तानाशाही’’ और इसके खिलाफ खड़े होने की लोगों की इच्छाशक्ति के बीच लड़ाई है. दार्जिलिंग लोकसभा सीट के लिए मतदान 18 अप्रैल को होगा.