close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीजेपी चाहे 200 साल राज कर ले, कश्मीर से नहीं हटा पाएंगे धारा 370: गुलाम नबी आजाद

कश्मीर में धारा 370 के सवाल पर नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी के पीछे रहकर बैटिंग कर रही कांग्रेस अब खुलकर सामने आ गई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद ने अनंतनाग में कहा कि जबतक कांग्रेस है धारा 370 नहीं हटने देगी. चाहे बीजेपी 200 साल तक राज कर ले. 

बीजेपी चाहे 200 साल राज कर ले, कश्मीर से नहीं हटा पाएंगे धारा 370: गुलाम नबी आजाद
धारा 370 पर कांग्रेस ने पीडीपी और नेशनल कांफ्रेंस की तरह बात कही है.

श्रीनगर: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) के संकल्प पत्र (घोषणा पत्र) में बीजेपी ने कश्मीर में धारा 370 हटाने की बात कही है. इसपर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने पार्टी का पक्ष रखा है. धारा 370 के मुद्दे पर कांग्रेस खुलकर सामने आ गई है. कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद ने कहा है कि कांग्रेस के रहते हुए कश्मीर में धारा 370 कोई नहीं हटा सकता. आज़ाद ने कहा कि बीजेपी 200 साल भी सरकार में रह ले, तब भी धारा 370 को नहीं हटा पाएगी.

370 पर कांग्रेस का हाथ, अलगाववादियों के साथ?
कश्मीर में धारा 370 के सवाल पर नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी के पीछे रहकर बैटिंग कर रही कांग्रेस अब खुलकर सामने आ गई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद ने अनंतनाग में कहा कि जबतक कांग्रेस है धारा 370 नहीं हटने देगी. चाहे बीजेपी 200 साल तक राज कर ले. 

कश्मीर में लोकसभा प्रचार में फ़ारुक़ अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती धारा 370 हटाने पर देश के टूटने तक की धमकी दे चुके हैं. बीजेपी शुरू से कह रही है कि धारा 370 पर दोनों पार्टियां के पीछे असली सपोर्ट कांग्रेस का है. बीजेपी ने घोषणा पत्र में 370 और 35A हटाने की बात दोहराई है.

गुलाम नबी आज़ाद ने कहा है कि जब तक कांग्रेस का अस्तित्व है तब तक 370 नहीं हट सकता है.

RSS नेता ने धारा 370 हटाने की बात दोहराई
इस बीच RSS ने कश्मीर में धारा 370 और 35A हटाने की मांग दोहराई है. RSS प्रचारक इंद्रेश कुमार ने कहा है कि जब तक कश्मीर में अलग झंडा और अलग संविधान है, तब तक कश्मीर जन्नत नहीं हो सकता. इंद्रेश कुमार ने कहा कि जब कश्मीरियों के लिये पूरा हिंदुस्तान खुला हुआ है तो कश्मीर के दरवाज़े भी देश के सभी लोगों के लिये खुले होने चाहिए.

उन्होंने कहा कि कश्मीर में पहली जरूरत है आतंकवाद खत्म होना चाहिए. कश्मीर कश्मीरी और कश्मीरियत में केवल मुसलमान को माना जाता है, ये सही बात नहीं है. बिना कश्मीरी पंडितों और डोंगरा सिखों के यह पूरा नहीं हो सकता है. पाकिस्तान ये राग अलापना बंद करे. पाकिस्तान कश्मीर मामले में न पार्टी थी न है न बनेगा. अगर पाकिस्तान को लगता है की कश्मीर के बगैर वह अधूरा है तो ये भी मानना होगा की लाहौर के बिना पूरा पाकिस्तान अधूरा है. 
इनके मन में जब तक 370 और 35A है. जब तक उनका अलग झंडा, अलग सविधान है तब तक कश्मीर में जन्नत नहीं होगी.