दिल्ली में रोचक हुआ चुनावी मुकाबला, मैदान में उतरे हैं बॉक्सर-क्रिकेटर-सूफी गायक

देश की राजधानी दिल्ली के चुनावी रण में बीजेपी ने पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर के साथ सूफी गायक हंसराज हंस और कांग्रेस ने ओलंपियन बॉक्सर विजेंदर सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है.

दिल्ली में रोचक हुआ चुनावी मुकाबला, मैदान में उतरे हैं बॉक्सर-क्रिकेटर-सूफी गायक
दिल्ली की सभी 7 लोकसभा सीटों पर छठे चरण में 12 मई को मतदान होना है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में जीत दर्ज करने के लिए राजनीतिक दलों ने अलग-अलग क्षेत्रों के कई सेलिब्रिटीज को उम्मीदवार घोषित किया है. इन सबके बीच देश की राजधानी दिल्ली के चुनावी रण में बीजेपी ने पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर के साथ सूफी गायक हंसराज हंस और कांग्रेस ने ओलंपियन बॉक्सर विजेंदर सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है. बीजेपी ने गौतम गंभीर को पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से और हंसराज हंस को दिल्ली की उत्तर-पश्चिमी (सुरक्षित) सीट से प्रत्याशी घोषित किया है. वहीं, कांग्रेस ने दक्षिण दिल्ली से बॉक्सर विजेंदर सिंह को उम्मीदवार बनाया है.

क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर
गौतम गंभीर देश और सेना को सम्मान देने वाले अपने बयानों को लेकर हमेशा से ही सुर्खियों में बने रहते हैं. बड़े मुद्दों पर अपनी बेबाक राय के लिए मशहूर गौतम गंभीर हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए थे. गौतम गंभीर ने 2016 में अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का आखिरी मैच खेला था. गौतम गंभीर 2007 में टी-20 विश्व कप और 2011 में विश्व कप जीतने वाली टीम इंडिया के स्कवाड का भी हिस्सा रहे थे. गंभीर ने इनमें भारत को जिताने में अहम भूमिका निभाई थी. गंभीर ने दिसंबर, 2018 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. 

 

 

एक नजर में गौतम गंभीर का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर
वनडे: 11 अप्रैल 2003 में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे क्रिकेट में डेब्यू करने वाले गौतम गंभीर ने अपने वनडे करियर में 147 मैच खेले और 39.68 की औसत से 5238 रन बनाए. गंभीर ने वनडे करियर में 11 शतक और 34 अर्धशतक जड़े और उनका हाई स्कोर 150 नॉटआउट रहा. उन्होंने अपने वनडे करियर का आखिरी मैच इंग्लैंड के खिलाफ 27 जनवरी 2013 को खेला था.

टेस्ट: वनडे में डेब्यू करने के करीब एक साल बाद नवंबर 2004 में गंभीर ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ की थी. गंभीर ने 58 टेस्ट में 104 पारियां खेलीं और 41.95 की औसत से 4154 रन बनाए. टेस्ट क्रिकेट में गंभीर के 9 शतक और 22 अर्धशतक थे. टेस्ट क्रिकेट में गंभीर का हाई स्कोर 206 रन रहा. वनडे की तरह ही गौतम गंभीर ने इंग्लैंड के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट मैच 2016 में खेला था.

टी-20: गौतम गंभीर का टी-20 करियर काफी छोटा रहा. उन्होंने अपने टी-20 करियर में केवल 37 मैच ही खेले. उन्होंने इस दौरान 27.41 की औसत से 932 रन बनाए. टी-20 में गंभीर का बैटिंग स्ट्राइक रेट 119.02 रहा. क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूम में उन्होंने 7 अर्धशतक लगाए हैं. गंभीर ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच साल 2007 में स्कॉटलैंड के खिलाफ खेला था, जबकि उनका आखिरी मैच पाकिस्तान के खिलाफ 2012 में था.

सूफी गायक हंसराज हंस
बीजेपी ने उत्तर-पश्चिमी दिल्ली (सुरक्षित) लोकसभा सीट से मौजूदा सांसद उदित राज का टिकट काटते हुए पंजाबी लोकगायक हंसराज हंस को अपना उम्मीदवार बनाया है. हंसराज हंस करीब 10 वर्षों से सक्रिय राजनीति में हैं. अपने राजनीतिक सफर की शुरूआत में उन्होंने शिरोमणि अकाली दल (शिअद) की सदस्यता ली थी. इस पार्टी की तरफ से वह जालंधर सीट से चुनाव भी लड़े, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा. वर्ष 2014 में हंसराज हंस ने शिअद को छोड़कर कांग्रेस का हाथ थाम लिया था. वर्ष 2016 में कांग्रेस से नाता तोड़ते हुए उन्होंने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली.

हंसराज हंस ने फिल्म 'कच्चे धागे' के गाने गाकर बॉलीवुड में एंट्री की थी. इस फिल्म में उनके साथ पाकिस्तान के मशहूर गायक नुसरत फतेह अली खान ने भी गीतों को अपनी आवाज दी थी. हंस ने 'नायक', 'ब्लैक', 'बिच्छू' सहित दर्जनों फिल्मों के लिए गीत गाए हैं. वह पंजाबी लोकगीतों के गायन में काफी मशहूर शख्सियत हैं.

ओलंपियन बॉक्सर विजेंदर सिंह
भारतीय मुक्केबाजी का बड़ा नाम माने जाने वाले विजेंदर सिंह का जन्म हरियाणा के भिवानी जिले में हुआथा. विजेंदर सिंह ओलंपिक पदक जीतने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज हैं. राष्ट्रीय औक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विजेंदर ने कई पदक अपने नाम किये थे.  उन्होंने 2006 के एशियाई खेलों में कांस्य, 2008 के बीजिंग ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था. यह किसी भी भारतीय मुक्केबाज का पहला ओलंपिक पदक था. 

विजेंदर को भारत का सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार और चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री भी मिल चुका है. 29 जून 2015 को विजेंदर सिंह पेशेवर मुक्केबाज बन गए थे. पेशेवर मुक्केबाजी करियर में उन्होंने अब तक 10 मुकाबले खेले हैं और सभी में जीत हासिल की है. विजेंदर का नाम डोपिंग मामले में भी उछला था. हालांकि, इस मामले में उन्हें क्लीन चिट मिल गई थी. विजेंदर बॉलीवुड में भी अपने हाथ आजमाए थे. 13 जून 2014 को रिलीज हुई फिल्म फगली में विजेंदर ने एक अभिनेता के रूप में अपना बॉलीवुड डेब्यू किया था.