लोकसभा चुनाव 2019: बिहार में गिरिराज सिंह समेत 5 सांसदों का कट सकता है टिकट

बीजेपी के एक नेता ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा कि इस चुनाव में एनडीए के घटक दलों में समझौते के अनुसार 17 सीटों पर बीजेपी अपने उम्मीदवार उतारेगी.

लोकसभा चुनाव 2019: बिहार में गिरिराज सिंह समेत 5 सांसदों का कट सकता है टिकट
फाइल फोटो

पटना: लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद बिहार में बीजेपी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नीत महागठबंधन में सीट बंटवारे और उम्मीदवारी को लेकर सरगर्मी तेज हो गई. ऐसे में बीजेपी के कम से कम पांच मौजूदा सांसदों के भी टिकट कटने की चर्चा जोरों पर है. कई नेता दिल्ली तक दौड़ भी लगा रहे हैं. 

बीजेपी के एक नेता ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी 22 सीटों पर विजयी हुई थी, इस चुनाव में एनडीए के घटक दलों में समझौते के अनुसार 17 सीटों पर बीजेपी अपने उम्मीदवार उतारेगी. ऐसे में तय है कि उसे पिछले चुनाव में जीती पांच सीटें छोड़नी है. पटना साहिब से सांसद शत्रुघ्न सिन्हा पार्टी से नाराज बताए जा रहे हैं, जबकि दरभंगा के बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद अब कांग्रेस का 'हाथ' थाम चुके हैं और बेगूसराय के सांसद भोला सिंह का निधन हो चुका है. 

नवादा सीट भी लोक जनशक्ति पार्टी के हिस्से में जाना तय माना जा रहा है. ऐसे में वहां के सांसद गिरिराज सिंह का टिकट कट सकता है. हालांकि सूत्रों का कहना है कि उन्हें बेगूसराय सीट से चुनाव लड़ाने की बात चल रही है. बीजेपी के एक नेता कहते हैं, "पार्टी स्थानीय लोगों की नाराजगी और सहयोगी दलों की पकड़ वाले क्षेत्रों का अध्ययन कर रही है. ऐसे में संभावना है कि कुछ वर्तमान सांसदों को इस चुनाव में टिकट से वंचित होना पड़े. वैसे, अभी उम्मीदवार को लेकर चर्चा चल रही है. अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी." 

इधर, एलजेपी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने बताया कि 18 मार्च से पहले एनडीए की सीटों और उम्मीदवारों की हो घोषणा हो जाएगी. उन्होंने कहा कि एलजेपी को छह सीटें मिली हैं. पारस ने कहा कि एनडीए बिहार की सभी 40 सीटों पर अपने उम्मीदवार की घोषणा एक साथ करेगी. बीजेपी के विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट कटना तय है, जबकि दरभंगा से कीर्ति आजाद पहले ही पाला बदल चुके हैं. कहा जा रहा है कि महाराजगंज सीट से जनार्दन सिंह सिग्रीवाल तथा सारण के सांसद राजीव प्रताप रूड़ी भी टिकट से वंचित हो सकते हैं. 

बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 22 सीटें मिलीं थीं, जबकि सहयोगी एलजेपी को छह और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) को तीन सीटें मिली थीं. उस समय जेडीयू के दो प्रत्याशी ही विजयी हुए थे. इस चुनाव में बीजेपी और जेडीयू 17-17 और एलजेपी छह सीटों पर चुनाव लड़ेगी. आरएलएसपी इस चुनाव में एनडीए के साथ नहीं है. 

(इनपुट आईएएनएस से)