close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जहानाबाद लोकसभा सीट : अरुण कुमार के चुनाव लड़ने से दिलचस्प हो गई लड़ाई

2014 के चुनाव में एनडीए की सहयोगी रही आरएलएसपी ने डॉ. अरुण कुमार को चुनावी मैदान में उतारा था. वह जीतने में सफल भी रहे. लेकिन बीच में ही उन्होंने अपनी पार्टी में बागी तेवर अपना लिया और अपनी राह अलग कर ली. 

जहानाबाद लोकसभा सीट : अरुण कुमार के चुनाव लड़ने से दिलचस्प हो गई लड़ाई
जहानाबाद सीट से चुनाव लड़ रहे हैं डॉ अरुण कुमार. (फाइल फोटो)

जहानाबाद : बिहार के जहानाबाद लोकसभा सीट से डॉ. अरुण कुमार वर्तमान सांसद हैं. यह बिहार का नक्स प्रभावित इलाका है. कभी इसे वामपंथ गढ़ माना जाता था, लेकिन बाद में इस सीट पर कई बार कांग्रेस और जनता दल के उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की. 2014 के चुनाव में एनडीए की सहयोगी रही आरएलएसपी ने डॉ. अरुण कुमार को चुनावी मैदान में उतारा था. वह जीतने में सफल भी रहे. लेकिन बीच में ही उन्होंने अपनी पार्टी में बागी तेवर अपना लिया और अपनी राह अलग कर ली. फिलहाल वह निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं.

इस चुनाव में आरएलएसपी भी एनडीए से अलग हो गई. फिलहाल उपेंद्र कुशवाहा महागठबंधन का हिस्सा हैं. उनकी पार्टी पांच लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है. अरुण कुमार के निर्दलीय चुनाव लड़ने के कारण जहानाबाद की लड़ाई काफी रोचक हो गई है.

जहानाबाद संसदीय क्षेत्र में जहानाबाद के अलावा अरवल के कुछ हिस्से भी शामिल हैं. इस संसदीय क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या 1,276,912 है. इनमें से 680,766 पुरुष और 596,146 महिला मतदाता शामिल हैं.

जहानाबाद संसदीय क्षेत्र के तहत विधानसभा की 6 सीटें आती हैं. इनमें अरवल, कुरथा, जहानाबाद, घोसी, अतरी और मकदूमपुर शामिल है. मकदूमपुर सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में इन 6 सीटों में से 4 पर आरजेडी और 2 सीट जेडीयू चुनाव जीतने में सफल रही थी. ज्ञात हो कि यह चुनाव दोनों पार्टी साथ लड़ रही थी.

2014 के हुए लोकसभा चुनाव में अरुण कुमार ने आरजेडी उम्मीदवार को 42340 वोटों से हराया. आरएलएसपी उम्मीदवार डॉ. अरुण कुमार को 322647 वोट मिले. जबकि आरजेडी के सुरेंद्र यादव को 280307 वोट. इसके अलावा नोटा पर 10352 मतदाताओं ने बटन दबाया.