close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कटिहार : 1980 में पहली बार तारिक अनवर बने थे सांसद, BJP भी लगा चुकी है जीत की हैट्रिक

तारिक अनवर के बाद इस सीट से बीजेपी के निखिल कुमार चौधरी यहां से तीन बार चुनाव जीते.

कटिहार : 1980 में पहली बार तारिक अनवर बने थे सांसद, BJP भी लगा चुकी है जीत की हैट्रिक
तारिक अनवर ने हाल ही में दोबारा कांग्रेस का दामन थामा. (फाइल फोटो)

कटिहार : पश्चिम बंगाल की सीमा पर बिहार का कटिहार लोकसभा शुरुआती दौर में पूर्णिया जिले का हिस्सा था. 14 लाख से अधिक मतदाताओं वाली कटिहार संसदीय सीट पर तारिक अनवर 2014 के लोकसभा चुनाव में पांचवी बार जीत दर्ज की थी. वह 1980 से 2009 तक कुल चार बार कांग्रेस की टिकट पर चुनाव जीते. 2014 में वह राष्ट्रीवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की टिकट पर लड़े थे. इस चुनाव में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के उम्मीदवार को एक लाख से अधिक मतों से हराया था.

तारिक अनवर के बाद इस सीट से बीजेपी के निखिल कुमार चौधरी यहां से तीन बार चुनाव जीते. 2014 में उन्हें कुल 316552 मत मिले थे. वहीं, जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) उम्मीदवार को कुल 100765 वोट मिले. इस चुनाव में कुल 977830 वोट पड़े थे. यहां से कुल 21 उम्मीदवारों ने अपना भाग्य आजमाया था. तारिक अनवर ने हाल ही में एनसीपी छोड़ अब कांग्रेस का दामन थाम लिया है.

कटिहार लोकसभा क्षेत्र में कुल छह विधानसभा सीटें आती हैं. बीजेपी और कांग्रेस के पास दो-दो सीटें हैं, जबकि एक-एक सीटों पर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) और सीपीआई का कब्जा है.

कटिहार लोकसभा सीट का इतिहास :

1957: कांग्रेस के अवधेश नारायण सिंह चुनाव जीते.
1958: कांग्रेस के भोला नाथ विश्वास चुनाव जीते.
1962: प्रिया गुप्ता, प्रजा सोशलिस्ट पार्टी
1967: सीताराम केसरी, कांग्रेस
1977: जनता पार्टी से युवराज सांसद बने.
1980: तारिक अनवर पहली बार कांग्रेस का टिकट पर चुनाव जीते.
1984: लगातार दूसरी बार तारिक अनवर कांग्रेस की टिकट पर सांसद बने.
1989: जनता दल से युवराज चुवाव जीते.
1991: मो. युनुस सलीम, जनता दल
1996: तारिक अनवर, कांग्रेस
1998: तारिक अनवर, कांग्रेस
1999: पहली बार खुला बीजेपी का खाता. निखिल कुमार चौधरी चुनाव जीते.
2004: निखिल कुमार चौधरी, बीजेपी
2009: निखिल कुमार चौधरी, बीजेपी
2014: तारिक अनवर, एनसीपी