close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कुशीनगर लोकसभा सीट पर त्रिकोणीय होगा मुकाबला, BJP ने नए खिलाड़ी पर लगाया दांव

कुशीनगर लोकसभा सीट पर पहली बार 2009 में आम चुनाव हुए थे. इस चुनाव में कांग्रेस के आरपीएन सिंह ने जीत दर्ज की थी.

कुशीनगर लोकसभा सीट पर त्रिकोणीय होगा मुकाबला, BJP ने नए खिलाड़ी पर लगाया दांव
कुशीनगर संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होना है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) का सियारी रण अपने चरम पर है. इन सबके बीच महात्मा गौतमबुद्ध की परिनिर्वाण स्थली के तौर पर जाना जाने वाला कुशीनगर लोकसभा क्षेत्र में इस बार का चुनाव पूरी तरह से त्रिकोणीय नजर आ रहा है. कांग्रेस ने इस सीट पर यूपीए-2 की सरकार में मंत्री रहे आरपीएन (रंजीत प्रताप नारायण) सिंह को प्रत्याशी बनाया है. वहीं, बीजेपी ने मौजूदा सांसद राजेश पाण्डे का टिकट काटते हुए हिन्दू युवा वाहिनी के कुशीनगर से जिला संयोजक रहे विजय दुबे पर दांव खेला है. सपा-बसपा गठबंधन की ओर से नथुनी कुशवाहा को प्रत्याशी बनाया गया है.

 

 

2014 का जनादेश दोहराना चाहेगी बीजेपी 
2014 के आम चुनाव में कुशीनगर लोकसभा सीट से बीजेपी के प्रत्याशी राजेश पाण्डे ने 3,70,051 वोटों से जीत दर्ज की थी. मौजूदा बीजेपी सांसद राजेश पाण्डे ने कांग्रेस प्रत्याशी आरपीएन सिंह को करीब 85,000 वोटों से शिकस्त दी थी. आरपीएन सिंह को 2,84,511 वोट मिले थे. वहीं, बसपा प्रत्याशी डॉ. संगम मिश्रा को 1,32,881 वोट हासिल हुए थे. कुशीनगर लोकसभा सीट पर कुल मतदाता संख्या 1,680,992 है. इनमें 9,30,637 पुरुष मतदाता और 7,50,240 महिला मतदाता हैं. 

ऐसा है राजनीतिक इतिहास
कुशीनगर लोकसभा सीट पर अबतक 2 बार आम चुनाव हुए हैं. इनमें से एक बार बीजेपी और एक बार कांग्रेस ने जीत दर्ज की है. कुशीनगर लोकसभा सीट पर पहली बार 2009 में आम चुनाव हुए थे. इस चुनाव में कांग्रेस के आरपीएन सिंह ने जीत दर्ज की थी. कुशीनगर संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होना है.