close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BJP को मिलेगी 'भीष्म' टक्कर, संत कबीर नगर लोकसभा सीट पर किसके 'भाल' पर लगेगा तिलक

बुनकरों और जूट उद्योग के लिए प्रसिद्ध संत कबीर नगर में औद्योगिक स्थिति बदहाल है. संत कबीर नगर सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के छठवें चरण में 12 मई को मतदान होना है.

BJP को मिलेगी 'भीष्म' टक्कर, संत कबीर नगर लोकसभा सीट पर किसके 'भाल' पर लगेगा तिलक
संत कबीर नगर लोकसभा सीट पर इस बार का चुनाव काफी दिलचस्प होने वाला है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) का सियारी रण अपने चरम पर है. वहीं, संत कबीर की निर्वाण स्थली 'मगहर' को खुद में समेटे संत कबीर नगर लोकसभा सीट हाल ही में काफी चर्चा में रही है. दरअसल, संत कबीर नगर लोकसभा सीट से मौजूदा बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी की बीते मार्च महीने में एक बैठक के दौरान अपनी ही पार्टी के विधायक राकेश बघेल के साथ जमकर जूतमपैजार हुई थी. इस घटना के बाद शरद त्रिपाठी का काफी निंदा हुई थी. वहीं, जूताकांड के बाद बीजेपी ने शरद त्रिपाठी का टिकट काटकर संत कबीर नगर लोकसभा सीट से प्रवीण निषाद को प्रत्याशी बनाया है.

 

 

2014 के आम चुनाव में बीजेपी को मिली थी जीत
2014 के आम चुनाव में संत कबीर नगर लोकसभा सीट से बीजेपी के मौजूदा सांसद शरद त्रिपाठी ने जीत दर्ज की थी. शरद त्रिपाठी को 3,48,892 वोट मिले थे. वहीं, दूसरे स्थान पर रहने वाले बसपा प्रत्याशी भीष्मशंकर उर्फ कुशल तिवारी को 2,50,914 वोट मिले थे. तीसरे स्थान पर आए सपा के प्रत्याशी भालचंद्र यादव को 2,40,169 वोट मिले थे. वहीं, संत कबीर नगर लोकसभा सीट पर कुल मतदाता संख्या 19,04,315 है. इनमें 10,45,424 पुरुष मतदाता और 8,58,808 महिला मतदाता हैं. 

ये हैं प्रत्याशी
संत कबीर नगर लोकसभा सीट से इस बार हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए प्रवीण निषाद को टिकट दिया गया है. इससे पहले प्रवीण निषाद ने गोरखपुर में हुए उपचुनाव में सपा के टिकट पर  जीत दर्ज की थी. वहीं, सपा-बसपा-रालोद गठबंधन ने भीष्मशंकर उर्फ कुशल तिवारी पर दांव खेला है. वहीं, कांग्रेस की ओर से पूर्व सपा नेता भालचंद्र यादव को प्रत्याशी घोषित किया गया है. 

ऐसा है राजनीतिक इतिहास
संत कबीर नगर लोकसभा सीट पर अभीतक 2 बार आम चुनाव हुए हैं. इनमें से एक बार बीजेपी और एक बार बीएसपी को सफलता हासिल हुई है. संत कबीर नगर लोकसभा सीट पर पहली बार 2009 में लोकसभा चुनाव हुआ था. 2009 आम चुनाव में बसपा प्रत्याशी भीष्मशंकर उर्फ कुशल तिवारी ने जीत दर्ज की थी. तिवारी को 2,11,043 वोट मिले थे. वहीं, बीजेपी के प्रत्याशी शरद त्रिपाठी 1,81,547 वोटों के साथ दूसरे स्थान पर रहे थे. 

बुनकरों और जूट उद्योग के लिए प्रसिद्ध संत कबीर नगर में औद्योगिक स्थिति बदहाल है. संत कबीर नगर लोकसभा सीट पर इस बार का चुनाव काफी दिलचस्प होने वाला है. संत कबीर नगर सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के छठवें चरण में 12 मई को मतदान होना है.