तमिलनाडु की थुथुकुडी लोकसभा सीट पर कड़ी टक्कर, किसे मिलेगी जीत

थुथुकुडी तमिलनाडु के बड़े शहरों में शुमार है. इस शहर में अन्ना यूनिवर्सिटी का कैंपस भी है. यहां के लोगों का मुख्य व्यवसाय मछली पकड़ना और पर्यटन से जुड़ा हुआ है. थुथुकुडी सीट को साल 2008 में तिरुचेंदूर लोकसभा सीट से काटकर बनाया गया था.

तमिलनाडु की थुथुकुडी लोकसभा सीट पर कड़ी टक्कर, किसे मिलेगी जीत

थुथुकुडी तमिलनाडु के बड़े शहरों में शुमार है. इस शहर में अन्ना यूनिवर्सिटी का कैंपस भी है. यहां के लोगों का मुख्य व्यवसाय मछली पकड़ना और पर्यटन से जुड़ा हुआ है. थुथुकुडी सीट को साल 2008 में तिरुचेंदूर लोकसभा सीट से काटकर बनाया गया था. फिलहाल यहां से एआईएडीएमके के जयसिंह त्यागराज नटरजी सांसद हैं. 2009 में इस सीट पर पहली बार मतदान हुआ. 2009 में यहां पर डीएमके के एसआर जयदुराई को जीत मिली थी. लेकिन 2014 के आम चुनाव में एआईएडीएमके के जयसिंह त्यागराज नटरजी को विजय मिली.

तमिलनाडु की थुथुकुडी लोकसभा सीट पर कुल 1310406 मतदाता हैं. इस सीट की सबसे खास बात यह है कि यहां पर पुरुषों के मुकाबले महिलाओं की संख्या ज्यादा है. यहां पुरुषों की संख्या 49.7 प्रतिशत है और महिलाएं 50.3 फीसदी हैं. इस लोकसभा सीट के अंतर्गत छह विधानसभा सीटें आती हैं. इनका नाम तिरुचेंदूर, श्रीवैकुंठम, तूतीकोरीन, ओट्टापिदरम, कोविलपट्टी और विलाथीकुलम हैं.

साल 2014 में एआईएडीएमके के जयसिंह त्यागराज नटरजी को 366052 वोट मिले थे. दूसरे नंबर पर डीएमके के पी. जगन थे, उन्हें 242050 वोट हासिल हुए थे. साल 2011 की जनगणना के अनुसार थुथुकुडी जिले की कुल जनसंख्या 1,750,176 है, जो कि देशभर में जनसंख्या के मामले में 277वें नंबर पर है. यहां प्रति वर्ग किमी में 369 लोग रहते हैं.